राहत की उम्मीद:234 करोड़ की लागत से ब्रह्मपुरा, जूरन छपरा के रास्ते सरैयागंज, सिकंदरपुर इलाके में ड्रेनेज निर्माण काे टेंडर

मुजफ्फरपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
स्मार्ट सिटी मिशन के तहत अब तक की यह सबसे बड़ी परियोजना है, जिससे हो सकता है समस्या समाधान - Dainik Bhaskar
स्मार्ट सिटी मिशन के तहत अब तक की यह सबसे बड़ी परियोजना है, जिससे हो सकता है समस्या समाधान
  • एक नवंबर काे तकनीकी बाेली के बाद जारी हाेगा वर्क ऑर्डर, दो साल में पूरा करना है काम

शहर को जलजमाव से निजात दिलाने के लिए स्मार्ट सिटी मिशन के तहत 234 करोड़ की लागत से ड्रेनेज और स्टॉर्म वाटर ट्रीटमेंट प्लांट यानी एसटीपी निर्माण के लिए सोमवार को टेंडर निकला। टेंडर 11 अक्टूबर तक भरा जाना है। जलजमाव की समस्या समाधान के लिए स्मार्ट सिटी के तहत यह पहला और सबसे बड़ा प्रोजेक्ट है।

सरैयागंज टावर से जूरन छपरा, ब्रह्मपुरा और दाउदपुर से सिकंदरपुर तक ड्रेनेज बनेगा। इस प्रोजेक्ट के तहत सभी तीन मोहल्ले की गलियों में ड्रेनेज बनाया जाएगा। घराें से पानी इन्हीं में निकलेगा।

11 अक्टूबर तक निविदा; 16 को प्री-बिड बैठक और नवंबर में खुलनी है तकनीकी बोली, बोर्ड ऑफ डायरेक्टर की सहमति
स्मार्ट सिटी मिशन के एमडी विवेक रंजन मैत्रेय ने सोमवार को 234 करोड़ की लागत से टेंडर निकाला। 24 माह की अवधि में एसटीपी व ड्रेनेज का निर्माण करना है। जलजमाव से मुक्ति के लिए अब तक की मुजफ्फरपुर की यह सबसे बड़ी योजना होगी। टेंडर में भाग लेने वाली एजेंसियों के साथ 16 अक्टूबर को प्री-बिड बैठक तय है।

एक नवंबर को टेक्निकल बिड खोलने के बाद वर्क ऑर्डर हाेगा। स्मार्ट सिटी मिशन के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर ने पिछले दिनों जलजमाव को देखते हुए ड्रेनेज बनाने की सहमति दी थी। उल्लेखनीय है कि बुडकाे काे पहले ही तीन ड्रेनेज निर्माण का काम मिल चुका है। स्मार्ट सिटी मिशन के तहत बनने वाले ड्रेनेज का आउटफाॅल कल्याणी, बाटा चौक और मणिका से कनेक्ट हाेगा।

स्मार्ट सिटी से इन इलाकों में बनेगा ड्रेनेज
सिकंदरपुर मन जोन : सरस्वतीनगर, बैरिया, दाउदपुर, झिटकहियां, ब्रह्मपुरा, जूरन छपरा, सदर अस्पताल रोड, कलेक्ट्रेट परिसर, कंपनीबाग रोड, डीएम आवास, सरैयागंज टावर और सिकंदरपुर।

बूढ़ी गंडक जोन : सिकंदरपुर एसएसपी आवास इलाका, प्रभात जर्दा फैक्ट्री रोड और बालूघाट इलाका।

खबरें और भी हैं...