पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

1 मई काे बैठक, 4 काे प्राेसीडिंग:निगम ने लिया कोरोना से दम तोड़नेवाले की अंत्येष्टि का जिम्मा, फिर भी परिजन को स्वयं ढीली करनी पड़ रही जेब

मुजफ्फरपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मुजफ्फरपुर : नगर निगम की ओर से शहर में हर दिन सैनिटाइजिंग कराई जा रही है। मंगलवार को सैनिटाइजिंग में जुटे वार्ड पार्षद। - Dainik Bhaskar
मुजफ्फरपुर : नगर निगम की ओर से शहर में हर दिन सैनिटाइजिंग कराई जा रही है। मंगलवार को सैनिटाइजिंग में जुटे वार्ड पार्षद।
  • अंत्येष्टि को 7 हजार निर्धारित, पर अब तक फंड ही नहीं हाे सका जारी
  • बगैर काेई राशि लिए ही मुक्तिधाम तक डेड बॉडी को पहुंचाने का था फैसला
  • शहर में हर दिन कराई जा रही सैनिटाइजिंग

वैश्विक महामारी कोरोना से दम तोड़नेवालाें की अंत्येष्टि की नगर निगम ने जिम्मेवारी ताे ले ली, लेकिन फंड जारी नहीं किए जाने से अब भी परिजनों को स्वयं जेब ढीली करनी पड़ रही है। एक मई को सशक्त स्थाई समिति की आपातकालीन बैठक बुलाकर यह फैसला लिया गया था, लेकिन इसकी प्रोसीडिंग मंगलवार को जारी की गई।

फैसले के अनुसार सूचना मिलते ही नगर निगम हॉस्पिटल अथवा घर से डेड बॉडी काे मुक्तिधाम तक पहुंचवाएगा। इसके लिए काेई राशि नहीं ली जाएगी। लेकिन, मंगलवार तक परिजनों को शव वाहन के 1300 रुपए समेत अंत्येष्टि का पूरा खर्च वहन करना पड़ा। मेयर सुरेश कुमार ने कहा कि सशक्त स्थाई समिति अंतिम संस्कार के लिए 7 हजार रुपए निर्धारित कर चुकी है। यह व्यवस्था अविलंब लागू हाे इसके लिए नगर आयुक्त से बात कर रहे हैं। बैठक की प्रोसीडिंग जारी कर दी गई है।

इधर, मोटर पंप चालू होने से पानी संकट हुआ दूर

मुजफ्फरपुर | पीडब्ल्यूडी वाटर पंप मंगलवार को चालू हो जाने से शहर के वार्ड-नंबर 8, 9 व 10 के लोगों को पानी की किल्लत से राहत मिली। मोटर खराब रहने से चित्रगुप्तपुरी, मदरसा रोड, शेख टोली, रामराजी रोड, बख्शी कॉलोनी, माड़ीपुर मेन रोड, आदि मोहल्ले में लोगों को पानी संकट झेलना पड़ रहा था। वार्ड-9 के पार्षद एनामुल हक का कहना है कि रमजान के महीने में पानी नहीं मिलने से दो दिनों से परेशानी झेलनी पड़ रही थी।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय कड़ी मेहनत और परीक्षा का है। परंतु फिर भी बदलते परिवेश की वजह से आपने जो कुछ नीतियां बनाई है उनमें सफलता अवश्य मिलेगी। कुछ समय आत्म केंद्रित होकर चिंतन में लगाएं, आपको अपने कई सवालों के उत...

    और पढ़ें