पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोविड वार्ड में मची अफरातफरी:कोरोना मरीज की मौत होने पर एसकेएमसीएच में हंगामा बोले परिजन- नर्सिंग स्टाफ ने गलत इंजेक्शन लगा दिया

मुजफ्फरपुर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मरीज की मौत के बाद कोविड वार्ड के बाहर रोते-बिलखते परिजन। - Dainik Bhaskar
मरीज की मौत के बाद कोविड वार्ड के बाहर रोते-बिलखते परिजन।
  • लोगों का आक्रोश देख स्वास्थ्यकर्मियों ने बंद कर लिया कमरा, सुरक्षाकर्मी पहुंचे तो शांत हुए लोग

एसकेएमसीएच के कोविड-19 वार्ड में मरीज की मौत के बाद बुधवार को आक्रोशित लोगों ने जमकर हंगामा किया। परिजन मरीज को गलत इंजेक्शन देने का आरोप लगा रहे थे। मृतक गायघाट थाना के गौसनगर का दीपक कुमार था। परिजनों का अाराेप था कि नर्सिंग स्टाफ ने पेट में सूई दी। जिसके उपरांत मरीज की मौत हो गई। हंगामे के दौरान वार्ड में अफरातफरी मची रही। हंगामा कर रहे लोगों ने कर्मचारियों पर हमला बोल दिया। जिसके बाद नर्सिंग स्टाफ ने कमरे को बंद कर लिया। सूचना के बाद अस्पताल के सुरक्षाकर्मी मौके पर पहुंचे और आक्रोशित परिजनों को समझा बुझाकर शांत कराया।

वहीं, अस्पताल प्रशासन से इसकी शिकायत करने को कहा। इस दौरान सुरक्षाकर्मियों ने वीडियाे बना रहे एक परिजन को पकड़ लिया और उसे एसकेएमसीएच पुलिस कैंप पर तैनात अहियापुर पुलिस को सौंप दिया। हालांकि, विरोध प्रदर्शन करने के बाद पुलिस ने युवक को छोड़ दिया। इधर, अस्पताल अधीक्षक डॉ. बाबू साहेब झा ने बताया है कि मरीज के परिजन गलत सुई देने का आरोप लगाया है। विभागाध्यक्ष से इस मामले की रिपोर्ट मांगी गई है। बेड हेड टिकट और सीसीटीवी फुटेज की जांच कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

सर्दी-खांसी और बुखार होने पर तीन दिन पहले एसकेएमसीएच में भर्ती कराया गया था दीपक

परिजनों का कहना था कि सर्दी-बुखार होने पर दीपक को एसकेएमसीएच में 3 दिन पहले भर्ती कराया था। इमरजेंसी वार्ड के डॉक्टर ने कोरोना का संदिग्ध मरीज बताते हुए उसी वार्ड में ट्रांसफर कर दिया। वहां पर नियमित रूप से समय पर डॉक्टर इलाज करने नहीं पहुंचते थे। इस कारण दीपक की हालत और भी बिगड़ गई। उन्होंने नर्सिंग स्टाफ से रेफर करने को बोला तो किसी ने उसकी नहीं सुनी। गंभीर हालत को देखते हुए एक नर्सिंग स्टाफ पहुंचा और दीपक के पेट में इंजेक्शन लगा दी। इसके तुरंत बाद ही मरीज की मौत हो गई।

इधर, सदर अस्पताल में टीकाकरण के दौरान हंगामा

सदर अस्पताल में बुधवार को टीकाकरण के दौरान हंगामा हो गया। अस्पताल में सिर्फ कोवैक्सीन का दूसरा डोज देने का कुछ युवकों ने विरोध किया। उनका कहना था कि कोविशील्ड नहीं है तो कोवैक्सीन का ही पहला डोज दें। एेसा नहीं करने पर रजिस्ट्रेशन काउंटर पर हंगामा करने लगे। गार्ड ने समझाने की कोशिश की तो बकझक करने लगे। इधर, सीएस ने बताया कि टीका नहीं होने से गुरुवार को भी जिले में टीकाकरण नहीं हाेगा। सिर्फ सदर अस्पताल में को-वैक्सीन का दूसरा डोज लगेगा। उधर, जिले में बुधवार को मात्र 5 केंद्राें सदर अस्पताल, मुशहरी, मुरौल, मोतीपुर में 813 लोगों को टीका लगा।

खबरें और भी हैं...