आरपीएफ जवान रेलवे के किसी ऑफिस में नहीं बजाएंगे सलामी:यह ईस्ट इंडिया कंपनी का दफ्तर नहीं; भारतीय रेल है! यहां सैल्यूट नहीं चलेगा

मुजफ्फरपुर2 महीने पहलेलेखक: धनंजय मिश्र
  • कॉपी लिंक

अंग्रेजाें के जमाने से रेलवे के अधिकारियाें काे सैल्यूट करने की प्रथा अब पुराने जमाने की बात हाे चुकी। रेलवे बाेर्ड, रेल मंत्रालय और जाेनल कार्यालयाें के मेन गेट पर अब विशेष वर्दी में तैनात रहने वाले आरपीएफ जवान नहीं दिखेंगे। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने रेलवे की इस परंपरा काे तत्काल प्रभाव से खत्म कर दिया है। इस आदेश के बाद मुख्य द्वार अथवा प्रवेश द्वार पर सलामी बजाने के लिए खड़े आरपीएफ जवान की अब तैनाती भी नहीं हाे रही है।

दरअसल, अंग्रेजी हुकूमत के समय रेलवे के आला अधिकारियाें काे कार्यालय में प्रवेश के समय सैल्यूट करने के लिए मेन गेट पर ही विशेष वर्दी में एक जवान काे तैनात रखा जाता था। जब भी काेई आला अधिकारी पहुंचते थे, ताे जवान उन्हें सैल्यूट करते थे।

बंगलाे प्यून और माली जैसे पद भी खत्म कर दिया
इससे पहले रेलवे में जे ग्रेड के आला अधिकारियाें काे शुरुआती दाैर से ही अपनी पसंद के बंगलाे पियन, माली आदि रखने का विशेष अधिकार था। लेकिन, रेल मंत्री ने कर्मचारियाें के हित काे देखते हुए ऐसे पदाें काे भी समाप्त कर दिया है। इसके लिए अब आउटसाेर्सिंग की व्यवस्था की गई है।