पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

क्राइम:16.24 लाख गबन के मामले में तीन कस्टाेडियन काे भेजा जेल, एचडीएफसी की एटीएम से गायब हुए थे रुपए

मुजफ्फरपुर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पुरानी माेतिहारी राेड बैरिया स्थित एचडीएफसी बैंक की एटीएम से 16.24 लाख गबन करने के आरोप में अहियापुर थानेे की पुलिस ने सीएमएस कंपनी के 3 कैश कस्टाेडियन काे बुधवार काे जेल भेज दिया। कांड के आईओ सुमनजी झा ने बताया कि आराेपी मनीष कुमार, दीपक और सुजीत को एटीएम का पासवर्ड पता था। जिससे एटीएम खाेल कर रुपए गायब कर दिए।

कैश बाॅक्स खाेलकर रुपए निकलते हुए सीसीटीवी फुटेज में भी आराेपियाें काे देखा गया है। आईओ ने बताया कि मामले में सीएमएस कंपनी के तीन अन्य कर्मचारी गबन की साजिश में शक के दायरे में हैं। साक्ष्य मिलते ही उन तीनाें काे भी जेल भेजा जाएगा। बता दें कि बीते 5 अक्टूबर काे सीएमएस कंपनी के स्थानीय अधिकारी पंकज कुमार ने अहियापुर थाने में एफआईआर दर्ज कराई थी कि एटीएम काे खाेलकर उसके कैश बाॅक्स से 16.24 लाख रुपए गायब कर दिया गया है।

भगवानपुर बैंक डाका कांड के आरोपी काे आर्म्स एक्ट में मिली जमानत

भगवानपुर बैंक डकैती कांड के आरोपी अर्जुन पासवान काे आर्म्स एक्ट के मामले में काेर्ट से जमानत मिल गई है। अर्जुन काे अप्पू ठाकुर व मुन्ना ठाकुर की निशानदेही पर जेल भेजा गया था। पुलिस ने मामले में अर्जुन पासवान पर बैंक डकैती कांड और लूटे गए रुपए व सामान बरामदगी मामले में चार्जशीट दायर नहीं की है। जिसका लाभ उसे मिला है। मामले में अप्पू ठाकुर की पत्नी काे भी काेर्ट से जमानत मिल गई है।

अप्पू व उसकी पत्नी और मुन्ना ठाकुर काे पुलिस ने 5.46 लाख रुपए व बैंक के गार्ड से लूटी गई गाेली के साथ पकड़ा था। पिस्टल आदि हथियार व बैंक लूट में प्रयुक्त हुई बाइक भी बरामद हुई थी। छापेमारी के दाैरान अर्जुन पासवान, ऋषिकेश और लाेलवा फरार हाे गया था। बाद में अर्जुन काे इसी मामले में जेल भेजा गया था।

बता दें कि बीते 22 अप्रैल काे भगवानपुर चाैक पर बैंक से अपराधियाें ने 13.5 लाख रुपए लूट लिए थे। सीसीटीवी फुटेज से अपराधियाें की पहचान हुई थी। सदर थानेदार ने बताया कि मामले में अर्जुन पासवान व अन्य आराेपियाें काे बैंक डकैती कांड में अलग से रिमांड किया गया है। बैंक डकैती के कांड में ही रुपए बरामदगी की धारा भी जाेड़ी गई है।

खबरें और भी हैं...