मुजफ्फरपुर CRPF कैंप पहुंची किसान चाची:घरेलू महिलाओं को दिया आचार बनाने का प्रशिक्षण, बोलीं- कोई काम नहीं होता है छोटा

मुजफ्फरपुर3 महीने पहले

मुज़फ़्फ़रपुर स्तिथ झपहा CRPF कैंप में किसान चाची पहुंची। वहां उन्होंने घरेलू महिलाओं को आचार बनाने का प्रशिक्षण दिया। इस दौरान महिलाओं व बच्चों ने भागीदारी दिखाई। इस दौरान कैंप के वरीय अधिकारी भी मौजूद थे। मामले में अस्सिटेंट कमांडेंट ध्रुव कुमार चौधरी ने बताया क क्षेत्रीय कावा संघ ग्रुप केन्द्र मुज० के अध्यक्षा सुशीला देवी की अध्यक्षता में क्षेत्रीय कावा संघ की 26 वी वर्षगाँठ के अवसर पर मेंस क्लब ग्रुप केन्द्र मुज० में किसान चाची (अचार कम्पनी मुज०) की निर्देशिका राजकुमारी देवी को बुलाया गया था।

इस दौरान उन्होंने घरेलू महिलाओं के कमाई हेतु आचार बनाने के लिए खूबी सिखाई। इस कार्यक्रम में राजपत्रित अधिकारी, अधिनस्थ अधिकारी एवं अन्य पद के कार्मिको की महिलाएँ एवं बच्चीयॉ बढ-चढ कर भाग ली। साथ ही आचार बनाने के लिए प्रशिक्षण प्राप्त की। इसके बाद महिलाओं को किसान चाची के सामान्य परिचय के बारे में अवगत कराया गया।

किसान चाची अपने बुलन्द हौसलो के दम पर सामाजिक बंधनों का विरोध करते हुए वर्ष 1990 में परम्परागत तरीके से खेती करते हुए वैज्ञानिक तरीकों को अपनाकर अपने खेतीबाडी को उन्नति किया। वर्ष 2000 से घर से ही अचार बनाना शुरू किया। राजकुमारी देवी को उनके कामों के लिए सरकार ने "पद्मश्री सम्मान से नवाजा जा चुका है । आज के समय में 20 से ज्यादा किस्मों का अचार बनाती है। जो दिल्ली के प्रगति मैदान पटना खादी मॉल, बिस्कॉमान, सहकारिता विभाग तक सप्लाई होती है। उनके द्वारा महिलाओं को यह संदेश दिया कि कोई काम छोटा नहीं होता है। उसमे बेहतर करने से एक दिन वही काम बडा हो जाता है। जैसे कि चाची द्वारा अपनी मेहनत के बल पर आचार कम्पनी स्थापित किया गया। जो आज पूरे देश में किसान चाची के नाम से सुप्रसिद्ध है। इसके पश्चात अध्यक्षा महोदय द्वारा किसान चाची ( अचार कम्पनी मुज०) की निर्देशिक राजकुमारी देवी को पुरस्कार से सम्मानित किया।