इस वर्ष 2 की हाे चुकी है माैत:एसकेएमसीएच के पीकू वार्ड में भर्ती दो और बच्चों में हुई एईएस की पुष्टि

मुजफ्फरपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • शिशु रोग विभागाध्यक्ष डॉ. गोपाल शंकर सहनी ने बताया कि भर्ती बच्चों का तय प्रोटोकॉल के तहत इलाज किया जा रहा है

कोरोना संक्रमण के बीच चमकी बुखार का प्रकाेप भी बढ़ रहा है। इससे स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया है। एसकेएमसीएच के पीआईसीयू वार्ड में भर्ती सीतामढ़ी के 3 वर्षीय यश कुमार व मोरसंड की रचना में बुधवार को एईएस की पुष्टि हुई। दोनों निजी अस्पताल से रेफर हाेकर यहां आए हैं। दोनों का ब्लड शुगर कम है। उनका डॉ. जेपी मंडल की यूनिट में इलाज चल रहा है।

उधर, एईएस पीड़ित सोनाक्षी की हालत में सुधार हुआ है। शिशु रोग विभागाध्यक्ष डॉ. गोपाल शंकर सहनी ने बताया कि भर्ती बच्चों का तय प्रोटोकॉल के तहत इलाज किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग को इसकी रिपोर्ट भेज दी गई है। अब तक एसकेएमसीएच में 10 बच्चे भर्ती हुए जिनमें 8 में एईएस की पुष्टि हुई है। जबकि 2 एईएस के संदिग्ध मरीज हैं। चार बच्चे यहां पर अभी इलाजरत हैं। दो की मौत इलाज के दौरान हाे चुकी है। 2 बच्चाें के परिजन डॉक्टर एडवाइस के बिना अस्पताल से लेकर चले गए। 3 बच्चे स्वस्थ होकर घर लौट गए।

खबरें और भी हैं...