मुजफ्फरपुर में 'मौत' वाला सिवरेज:स्मार्ट सिटी योजना के तहत सिकंदरपुर में चल रहा कार्य, गिरने से मजदूर की मौके पर मौत

मुजफ्फरपुर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सदर हॉस्पिटल में जुटी भीड़। - Dainik Bhaskar
सदर हॉस्पिटल में जुटी भीड़।

मुजफ्फरपुर में स्मार्ट सिटी योजना के तहत कार्य चल रहा है। शहर की हालत नरकीय हो चुकी है। जगह-जगह गड्ढे और नाले खोदकर छोड़ दिये गए हैं। हर दिन कोई न कोई हादसा होता है। शनिवार शाम सिकंदरपुर रानी सती मन्दिर के समीप एक नंदा हादसा हुआ। दरअसल, यहां पर सिवरेज का काम चल रहा है। इसमे अचानक से संतुलन बिगड़ने से एक मजदूर गिर गया। उसे गंभीर चोट लगी। उसकी मौके पर ही मौत हो गयी। आननफानन में उसे अन्य मजदूरों ने सदर अस्पताल पहुंचाया। जहां डॉक्टर ने उसे देखते ही मृत घोषित कर दिया। मृतक की पहचान सीतामढ़ी ज़िले के 24 वर्षीय रंजीत कुमार के रूप में हुई है।

मिट्टी से दबा और पानी में डूबा

उसके सहयोगी जय राम ने बताया कि वह सीवरेज का काम करता था। आज उसी में गिर गया। ऊपर से मिट्टी भी गिरा,जिस कारण उसी में दब गया और उसकी मौत हो गई। उसके सिर में भी चोट लगने की बात बताई है। पूरे मामले पर सिविल सर्जन उमेश चंद्र शर्मा ने बताया कि मरे हुए स्थिति में एक मरीज को लाया गया है।प्रथम दृष्टया ऐसा लग रहा है कि डूबने से मौत हुई है। वहीं नगर आयुक्त को जब इस मामले पर जानकारी लेने के लिए कॉल किया गया टी उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया।

अक्सर होता है हादसा

जगह-जगह नाला और गड्ढा खोदकर छोड़ देने के कारण अक्सर हादसे हो रहे हैं। हाल में हुई बारिश के चलते इसमे पानी लग गया है। जिस कारण सड़क पर चलने के दौरान पता भी नहीं चलता कि कहां पर गड्ढा है। हाल में एक स्कूल का बच्चा साइकिल समेत इसमे गिर गया था। स्थानीय लोगों ने उसकी जान बचाई थी। इसके बाद धर्मशाला चौक के समीप निगम की लापरवाही के चलते दरभंगा के एक युवक की करंट लगने से मौत हो गयी थी। सड़क पर पानी लगा था। उसने बचने के लिए पोल का सहारा लेने की कोशिश की। लेकिन, पोल में करंट था। उसने मौके पर ही दम तोड़ दिया।