पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोनाकाल में राहत:मुफ्त राशन के साथ इस महीने मासिक राशन का भी नहीं देना होगा पैसा

समस्तीपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिला प्रशासन ने प्रत्येक पंचायत के लिए तैनात किया कर्मी, 40 लाख लोगों को इसका लाभ मिलेगा

कोरोना संक्रमण के प्रभावी होने के साथ ही प्रवासी के जिला आगमन व जिला में मौजूद मजदूरों को रोजगार की समस्या सताने लगी है। इसको लेकर सरकार की ओर से जरूरतमंदों को इस माह न सिर्फ लॉकडाउन को लेकर मुफ्त राशन मिलेगा बल्कि उन्हें पैसे देकर मिलने वाला प्रत्येक माह का राशन भी इस बार बिना पैसे के मिलेगा। जहां पूर्व का राशन 35 किलोग्राम प्रति परिवार के हिसाब से दिया जाएगा। वहीं प्रत्येक परिवार में प्रत्येक सदस्य को 5-5 किलोग्राम राशन कोरोना काल में मुफ्त दिया जाएगा। जिसमें 3 किलोग्राम गेहूं व दो किलोग्राम चावल दिया जाएगा।

बताया गया कि इसको लेकर प्रशासन की ओर से तैयारी शुरू कर दी गई है। शनिवार तक अप्रैल माह का राशन बांटा जाना है। उसके बाद साेमवार से मई माह का व कोरोना काल का राशन दोनों बांटा जा सकता है। दोनों राशन के लिए लाभुकों को कोई राशि नहीं देनी होगी। इसको लेकर प्रत्येक पंचायत में कर्मी तैनात किए गए हैं ताकि लोगों को मुफ्त राशन दिलाया जा सके। बताया जाता है कि जिला में 7.97 लाख परिवार के 40 लाख लोगों को इसका लाभ मिलेगा। जिला में 8,07,922 कार्डधारी परिवार है। जिसमें वर्तमान में 7,97,576 कार्डधारी परिवार एक्टिव है। सभी परिवार के सदस्यों को मुफ्त में 5-5 केजी राशन मिलेगा।

प्रवासी मजदूरों को भी मिलेगा मुफ्त राशन
मई माह में कोरोना काल का मुफ्त राशन प्रवासी मजदूरों को भी दिया जाएगा। बताया जाता है कि वन नेशन वन राशन कार्ड योजना के तहत प्रवासी मजदूरों को भी जिला में राशन उपलब्ध कराया जाएगा। उन्हें प्रतिमाह के राशन का पैसा नहीं देना होगा।

इस माह किसी राशन का नहीं देना होगा पैसा
^मई माह में रेग्युलर राशन व कोरोना काल का राशन दोनों दिया जाएगा। राशन कार्डधारी परिवारों को दोनों में से किसी राशन का पैसा नहीं देना होगा। इस योजना का लाभ प्रवासी मजदूरों को भी दिया जाएगा। इसके लिए पंचायतों में कर्मी नियुक्त किए गए हैं।
द्यसोमनाथ सिंह, जिला आपूर्ति पदाधिकारी

खबरें और भी हैं...