समस्तीपुर में कोरोना की तीसरी लहर पर मॉकड्रिल:कोविड केयर सेंटर SDO ने कराया मॉकड्रिल, कई कमियां आई सामने

समस्तीपुर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

समस्तीपुर जिला प्रशासन कोरोना की तीसरी लहर की संभावना व लगातार बढ़ते कोविड संक्रमित मरीज को देखते हुए तैयारी में जुट गई है। इसको लेकर शुक्रवार को दलसिंहसराय अनुमंडलीय अस्पताल परिसर स्थित एएनएम प्रशिक्षण केंद्र सह छात्रावास में बने कोविड केयर सेंटर में एसडीओ ज्ञानेंद्र कुमार के नेतृत्व में मॉकड्रिल की गई।

इस दौरान उन्होंने कोविड केयर सेंटर में संक्रमित मरीज को एम्बुलेंस से लाने, अंदर ले जाने, कर्मी द्वारा जांच करने, बेड पर ऑक्सीजन चढ़ाने आदि का रिहर्सल करवाते हुए जायजा लिया। वहीं कोविड केयर सेंटर में मौजूद हैंड सेनेटाइजर, बनाए गए वार्ड, वार्ड के प्रत्येक बेड पर लगे ऑक्सीजन सप्लाई, कंस्ट्रेटर, जांच मशीन, कोविड संक्रमित मरीज को मिलने वाली दवा की उपलब्धता, सेंटर में प्रतिनियुक्त चिकित्सक, एएनएम, कर्मी के रोस्टर की जांच पड़ताल किया।

वहीं मॉकड्रिल के दौरान उन्होंने अपने चपरासी को ही कोविड संक्रमित मरीज बनाकर सुविधओं की जांच किया। इस दौरान एसडीएचसी केंद्र पर तैनात एम्बुलेंस चालक कोविड नॉर्म्स के अनुरूप ड्रेस में नही पाया गया। वहीं एसडीएचसी में प्रतिनियुक्त चिकित्सक डॉ. सुनील कुमार भी नही मिले। आपात स्थिति से निपटने के लिए 50 बड़ा सिलेंडर और 94 छोटा सिलेंडर तो जरूर मौजूद था।

इसके बाद उन्होंने अस्पताल के इंडोर, आउटडोर, इमरजेंसी, प्रसव कक्ष, बच्चा वार्ड, कोविड टेस्टिंग वार्ड, ऑक्सीजन प्लांट सहित अन्य जगहों का भी जायजा लिया। वहीं एसडीओ ने डीएस को किसी भी हालत में अस्पताल परिसर में किसी भी व्यक्ति के बिना मास्क के नही आने की सख्त हिदायत दी। मौके पर बीडीओ प्रफुल्ल चन्द्र प्रकाश, सीओ राजीव रंजन, नप ईओ राकेश कुमार रंजन, प्रभारी डीएस डॉ. अरुण कुमार, अस्पताल प्रबंधक पूर्णेन्दु कुमार सहित अन्य चिकित्सक व कर्मी उपस्थित थे।

इस संबंध में एसडीओ ज्ञानेंद्र कुमार ने बताया कि कोविड तैयारी का जायजा मॉकड्रिल के माध्यम से की गई है। इसमें देखा गया है कि अस्पताल कोविड के लिए सक्षम है की नही। सभी तैयारी सही पाई गई है। 85 बेड पर ऑक्सीजन की सुविधा कार्यरत है। सारे कर्मी व दवा उपलब्ध है। हमलोग किसी भी तरह के महामारी बढ़ने की स्थिति में सामना करने को तैयार हैं।

खबरें और भी हैं...