समस्तीपुर में मासूम की मौत:पानी भरे गड्ढे में डूबने से आठ वर्षीय मासूम की हुई मौत, क्षतिग्रस्त तटबंध की मरम्मती व मुआवजे की मांग को लेकर ग्रामीणों ने किया सीओ का घेराव

समस्तीपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रोते-बिलखते परिजन। - Dainik Bhaskar
रोते-बिलखते परिजन।

समस्तीपुर जिला के मोरवा प्रखंड से एक दर्दनाक हादसे की खबर आ रही है। जहां चकसिकंदर पंचायत के वार्ड संख्या छह में सोमवार को पानी भरे गड्ढे में डूबने से एक बालक की मौत हो गई। मृतक की पहचान वीरचन्द्र राय का पुत्र प्रिंस कुमार (8 वर्ष) के रूप में की गई है। घटना के बाद मृतक के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था।

प्राप्त जानकारी के अनुसार मृतक अपने घर से सड़क पर निकला था। जहां सड़क पर लगभग 3 फीट नून नदी का पानी लगा हुआ था। नून नदी के पानी की धार के प्रवाह में आकर वह गहरे गड्ढे में गिर गया। इसमें डूबने से उसकी मौत हो गई। घटना के बाद जुटे परिजनों व ग्रामीणों ने घटनास्थल पर पहुंचे मोरवा सीओ प्रीतिलता का घेराव कर शीघ्र ही क्षतिग्रस्त तटबंध का मांग करते हुए पीड़ित परिवार के मुआवजे की मांग की। बहुत समझाने बुझाने के बाद सीओ द्वारा तटबंध की मरम्मत और पीड़ित परिवार को लाभ दिलाने के आश्वासन पर आक्रोशित लोग शांत हुए।

घटना को लेकर स्थानीय लोगों ने बताया कि लगभग 10 दिन पूर्व चकसिकंदर पंचायत में नून नदी का तटबंध टूट जाने के कारण बाढ़ का पानी चकपहार, वसही भिंडी, गुनाई वसही, सोंगर समेत कई पंचायत में घुस गया है। अंचल प्रशासन एवं जिला प्रशासन द्वारा बांध को रोकने के लिए कोई सकारात्मक पहल नहीं होने के कारण आए दिन इस तरह का हादसा होते आ रहा है। बीते रविवार को भी ताजपुर थाना क्षेत्र के मोरवा प्रखंड के सोंगर पंचायत के वार्ड संख्या चार निवासी रमेश सदा के पुत्र मिठुन सदा ( 20 वर्ष) का शौच के दौरान पैर फिसलने से गहरे पानी मे डूब जाने से मौत हो गई थी। वहीं घटना के बाद पहुंची ताजपुर थाना की पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल समस्तीपुर भेज दिया है।

खबरें और भी हैं...