पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जानकी एक्सप्रेस से टकराई पोकलेन:रोसड़ा में नयानगर के पास खुले फाटक से गुजर रही थी मशीन और आ गई ट्रेन, यात्री बचे, ट्रैक क्षतिग्रस्त

समस्तीपुर2 महीने पहले
हादसे के बाद पोकलेन क्षतिग्रस्त हो गया।
  • रेलवे के ठेके पर काम कर रही पोकलेन का चालक गंभीर, दरभंगा रेफर
  • क्षतिग्रस्त रेल इंजन को बदलकर नई इंजन के साथ ट्रेन आगे निकल गई

समस्तीपुर-सहरसा रेलखंड पर रोसड़ा और नयानगर रेलवे स्टेशन के बीच 11C गुमटी से जानकी एक्सप्रेस गुजर रही थी कि खुले फाटक से एक पोकलेन मशीन आ गई। ट्रेन के इंजन का दाहिना हिस्सा पोकलेन मशीन से टकराया और जोर का धमाका हुआ, मशीन भी धक्के से घूमकर नीचे गिर गई। ट्रेन के इंजन का बफर क्षतिग्रस्त हो गया। ट्रेन के ड्राइवर ने पावर ब्रेक लगाकर ट्रेन को रोका। राहत की बात यह रही कि ट्रेन का सिर्फ इंजन ही क्षतिग्रस्त हुआ, पीछे की बोगियों पर असर नहीं हुआ। सिर्फ झटका लगा। पटरी को भी नुकसान पहुंचा है। इधर, लोगों की भीड़ जुटी तो JCB का ड्राइवर बुरी तरह जख्मी मिला। रेल प्रशासन ने कुछ घंटे में इंजन को बदल दिया और ट्रेन आगे चली गई। साल भर पहले भी इस रेलखंड पर हादसा हुआ था, जिसमें कई लोगों की जान चली गई थी।

पोकलेन चालक दरभंगा रेफर
स्थानीय लोगों ने बताया कि जिस वक्त जानकी एक्सप्रेस गुजर रही थी, उस समय 11 नंबर रेलवे गुमटी का फाटक खुला हुआ था। मशीन के आगे का हिस्सा ट्रैक पर पहुंच गया, जबकि बाकी इसके इंजन पर चालक बैठा था। अगला हिस्सा ट्रेन से टकराया तो पूरी मशीन घूमती हुई नीचे गिर गई। पोकलेन के चालक को संभलने का मौका नहीं मिला। हादसे में पोकलेन का चालक मनोज कुमार गंभीर रूप से जख्मी हो गया है, जिसे रोसड़ा में प्राथमिक उपचार के बाद दरभंगा रेफर कर दिया गया है। उसकी हालत नाजुक है। रेलवे में ही किसी कांट्रेक्टर की साइट पर काम चल रहा था। हसनपुर अंचल के अंचलाधिकारी आनंद चंद्र झा ने कहा कि गेटमैन की लापरवाही की वजह से हादसा हुआ है। गेट खुला रहने की वजह से ही दुर्घटना हुई है। उन्होंने कहा कि पूरे मामले की जांच की जा रही है। रेलवे की ओर से इंजीनियर मौके पर पहुंच गए हैं। पटरी की मरम्मत की जा रही है।

ट्रेनों का परिचालन बाधित

घटना के बाद मौके पर स्थानीय लोगों की भीड़ जमा हो गई। वहीं, हसनपुर थाना के थाना प्रभारी चंद्रकांत गौरी घटनास्थल पर दल-बल के साथ पहुंचे हैं। दुर्घटना के समय मौजूद एक चश्मदीद ने बताया कि मेरे सामने दुर्घटना हुई है, पोकलेन ड्राइवर को कड़ी मशक्कत के बाद बाहर निकाला गया। इसके बाद अस्पताल ले जाया गया। रेलखंड पर ट्रेन दुर्घटना की खबर मिलते ही समस्तीपुर रेल मंडल के अधिकारी भी घटनास्थल के लिए रवाना हो गए। कुछ देर के लिए इस रूट पर ट्रेनों का परिचालन भी बाधित हो गया था, लेकिन अब स्थिति सामान्य है।

गेट खुले होने की जांच हो रही

हादसे के बाद जब ट्रेन खड़ी थी और रास्ता साफ होने का इंतजार कर रही थी, उस समय ट्रेन के एक यात्री ने बताया कि उसे हादसे का अहसास उस समय हुआ जब ट्रेन में अचानक पावर ब्रेक लगाया गया। सभी यात्रियों को जोर से झटका लगा। यात्री ने बताया कि हादसे के समय वहां पर गेटमैन मौजूद था लेकिन उसने गेट को नहीं लगाया था।

यह ट्रेन हादसा नहीं, पोकलेन ही क्षतिग्रस्त: CPRO

इस बारे में पूर्व मध्य रेलवे के CPRO राजेश कुमार ने बताया कि यह फाटक आमतौर पर बंद ही रहता है। जब सड़क मार्ग से कोई गाड़ी आती है तो ट्रेन परिचालन में अवरोध नहीं हो, इसे ध्यान में रखते हुए गेट खोला जाता है। जांच चल रही है कि गेट खुला तो कैसे और कब? यह ट्रेन हादसा नहीं, ट्रेन से टकराने के कारण पोकलेन का क्षतिग्रस्त है। कोई यात्री चोटिल नहीं है। ट्रेन भी निकल गई है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- वर्तमान परिस्थितियों को समझते हुए भविष्य संबंधी योजनाओं पर कुछ विचार विमर्श करेंगे। तथा परिवार में चल रही अव्यवस्था को भी दूर करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण नियम बनाएंगे और आप काफी हद तक इन कार्य...

और पढ़ें