सास से हुई लड़ाई तो बहू ने लगा ली फांसी:एक साल पहले हुई थी शादी; शाम को हुआ सास से झगड़ा, सुबह फंदे से लटकी मिली लाश

समस्तीपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मृतका की शादी का फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
मृतका की शादी का फाइल फोटो।

समस्तीपुर जिला के दलसिंहसराय में मंगलवार को एक महिला का शव कमरे के अंदर बांस के बल्ली से लटका मिला। मृतका की पहचान केवटा पंचायत के जमुनाटांड़ वार्ड संख्या 15 निवासी मुकेश कुमार की पत्नी रूपम कुमारी (22 वर्ष) के रूप में हुई है। घटना की सूचना मिलने के बाद पहुंची स्थानीय थाना की पुलिस जांच में जुटी है।

एक साल पहले ही हुई थी शादी

मृतका की शादी बीते साल जुलाई महीने में हिन्दू रीति-रिवाज के साथ हुई थी। मृतका के पति, ससुर व एक देवर बेंगलुरु के तौलिया फैक्ट्री में काम करते हैं। वहीं, घर पर उसकी पत्नी रूपम, सास विमल देवी व देवर विकास कुमार ही रहता है। सोमवार की देर शाम किसी बात को लेकर सास व बहू के बीच झगड़ा हुआ था। अगले दिन बहु का शव कमरे के अंदर से बांस के बल्ली में लटका हुआ पाया गया।

इधर, फांसी लगाकर महिला के मौत की खबर गांव में जंगल मे लगी आग की तरह फैल गई। इसी बीच ग्रामीणों ने इसकी सूचना महिला के मायके बछवाड़ा थाना क्षेत्र के अरवा जहानपुर में रहने वाली उसकी भाभी निभा कुमारी को दिया। सूचना मिलने के बाद उसकी भाभी कुछ ग्रामीणों के साथ मृतक के ससुराल पहुंचकर जमकर हंगामा किया। इस दौरान सभी ने रूपम की सास व देवर के साथ मारपीट करते हुए घर के अंदर ही एक कमरे में बंद कर दिया।

घटनास्थल पर जमा हुए ग्रामीण।
घटनास्थल पर जमा हुए ग्रामीण।

पुलिस ने महिला के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा

गांव में महिला की मौत व हंगामा की सूचना मिलने के बाद प्रभारी थानाध्यक्ष नंद किशोर यादव, SI संगीता कुमारी, शिव कुमार त्रिपाठी सदलबल मौके पर पहुंचकर मृतक के परिजनों को समझाते हुए जांच पड़ताल में जुट गए। पुलिस ने महिला के शव को अपने कब्जे में लेकर कागजी कार्रवाई करते हुए पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल समस्तीपुर भेज दिया।

समाचार भेजे जाने तक मृतक के घर लोगों की अच्छी खासी भीड़ जमी हुई थी। वहीं मृतक की सास व देवर कमरे के अंदर बंद थे। वहीं पुलिस सभी को समझाने में जुटी हुई थी। इस संबंध में प्रभारी थानाध्यक्ष नंद किशोर यादव ने बताया कि परिजन के आवेदन के आधार पर मामला को दर्ज करते हुए आगे की कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...