पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

आफत की बाढ़:बाढ़ग्रस्त क्षेत्र में मवेशियों को एक माह से नहीं मिल रहा है हरा चारा

समस्तीपुर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • हरी घास के अभाव में मवेशियों ने दूध देना किया बंद, लोगों पर आई आफत

करेह व कोसी नदी की पेटी में बसी भटवन पंचायत का सिरसिया गांव पिछले एक महीना से बाढ़ के आगोश में है। नदियों के जलस्तर की बढ़ोतरी से उत्पन्न हुई बाढ़ की विभीषिका ने आमजनों से लेकर मवेशियों को भी प्रभावित किया है। पिछले एक महीना से सिरसिया गांव व गांव से बाहर चारों ओर के खेतों में बाढ़ का पानी फैला हुआ है। इससे खेतों में लगी मवेशियों के चारा के रूप में उपयोग किए जाने वाली फसलें बाढ़ के पानी में डूबकर बर्बाद हो गए हैं। इस कारण मवेशियों को पिछले एक महीना से हरी घास नसीब नहीं हो रहा है।

बाढ़ पीड़ित पशुपालक सूखा भूसा व चोकर के सहारे मवेशियों के हरी घास की भरपाई करने में लगे हैं। इसी का परिणाम है कि पिछले एक महीना से हरी घास के अभाव में अधिकतर दुधारू मवेशियों जैसे गाय व भैंस ने दूध देना बंद कर दिया है। यदि कुछ मवेशियों द्वारा दूध दिया भी जा रहा है, तो उसकी मात्रा काफी कम गई है। मवेशियों द्वारा दूध देना बंद किए जाने के कारण ऐसे लोग जो दूध बेचकर ही अपने परिवार का भरण-पोषण करते हैं, उनपर आफत आ गई है।

आर्थिक रूप से हाे गए हैं कमजाेर

आर्थिक आमदनी के अभाव में वे आवश्यकता की पूर्ति नहीं कर पा रहे हैं। सिरसिया गांव में 200 से अधिक ऐसे परिवार हैं, जो मुख्य रूप से पशुपालन पर निर्भर करते हैं। मवेशियों द्वारा दिए गए दूध को वे सुबह-शाम बेचकर उससे हुए आर्थिक आमदनी के सहारे खुद व अपने परिवार के सदस्यों का भरण-पोषण करते हैं। बच्चों के पढ़ाई का खर्च वहन करने के साथ ही परिवार की सारी आवश्यकताओं की पूर्ति करते हैं। लेकिन गांव में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न होने के कारण सभी पशुपालक ऊंचे व सुरक्षित स्थानों पर अपने मवेशियों के साथ शरण लिए हुए हैं। चारों तरफ बाढ़ का पानी व ऊंचे स्थलों पर मवेशियों के साथ ही रहने की विवशता बाढ़ पीड़ितों के बीच बनी हुई है। मवेशियों को हरी घास नहीं मिल पा रही है। बाढ़ की आशंका को लेकर ऊंचे स्थलों पर भूसा को रखे हुए हैं।

परिजनों को मंत्री ने दिया 4 लाख रुपए का चेक

कल्याणपुर। प्रखंड क्षेत्र में बागमती नदी के पानी से आई बाढ़ में 2 दर्जन से अधिक गांव बाढ़ से प्रभावित हो चुके हैं। स्थानीय विधायक सह योजना विकास मंत्री महेश्वर हजारी ने बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा करते हुए बाढ़ पीड़ितों की समस्या से अवगत हुए। चकमेहसी के सोरमार ढाला के समीप चल रहे समुदाय किचन का जायजा लिया। इसके बाद नामापुर में हुए नाव हादसे में तीन लोगों की मौत हो गई थी। इसके बाद मंत्री ने तीनों मृतक के पत्नी को चार-चार लाख रुपए का चेक दिया। मौके पर एसडीओ अशोक कुमार मंडल, वीडियो धर्मवीर कुमार प्रभाकर, सीओ अभय पद दास, मुखिया विजय शर्मा, भोला सिंह, मुकेश कुमार सिंह, देव शंकर ठाकुर, विधायक प्रतिनिधि राजकुमार सिंह, गोपाल पटेल आदि थे।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि के लिए ग्रह गोचर बेहतरीन परिस्थितियां तैयार कर रहा है। आप अपने अंदर अद्भुत ऊर्जा व आत्मविश्वास महसूस करेंगे। तथा आपकी कार्य क्षमता में भी इजाफा होगा। युवा वर्ग को भी कोई मन मुताबिक क...

और पढ़ें