पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कूड़ा उठाव:हड़ताल के कारण डबल शिफ्ट में 12 दिन लगातार कूड़ा के उठाव के बाद ही शहर की सफाई संभव

समस्तीपुर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • अब डंपिंग स्थल नहीं होने से शहर में पड़ा है कूड़ा, संभव नहीं दिखता कहीं से कूड़ा उठाव

शहर की सफाई को लेकर काम करने वाली नगर प्रशासन के लिए कूड़ा का उठाव हमेशा से चुनौती भरा ही रहा है। इस बार यह चुनौती खासा बड़ी है। शहर में औसतन 35 टन कूड़ा प्रतिदिन निकलता है। इस प्रकार से पांच दिनों के हड़ताल व रविवार को जोड़कर छह दिनों का 210 टन कूड़ा शहर में जमा है। इसका उठाव नप प्रशासन के लिए किसी चुनौती से कर नहीं है। नप के सफाई इंचार्ज प्रेमशंकर कुमार का बताना है कि शहर में जमा कचड़ा को हटाने के लिए 12 दिन तक लगातार दो शिफ्ट में काम करना होगा। डंपिंग यार्ड को लेकर समस्या बन गई है। मसलन सोमवार को कचरा कहां फेंका जाए, यह प्रशासन के लिए यक्ष प्रश्न बना हुआ है। नगर परिषद के पास कोई जगह ही नहीं है। शनिवार तक जहां हड़ताल को लेकर शहरों में कूड़ा पड़ा था। वहीं अब डंपिंग यार्ड नहीं होने से शहरवासियों को कूड़ा के बीच रहना होगा।

नप प्रशासन के लिए चुनौती बना 6 दिनों का जमा 210 टन कूड़ा का उठाव
निजी गड्‌ढे में गिर रहा था कूड़ा

सफाई इंचार्ज ने बताया कि मालगोदाम स्थित रेलवे पोखर में कूड़ा फेंका जाता था। भरने पर संत कबीर कॉलेज के पास फिर मोहनपुर में तीन निजी जमीनों में कूड़ा डाल रहे थे।

कूड़ा डंपिंग के लिए शहर में जमीन उपलब्ध नहीं है। वहीं आसपास के क्षेत्रों में जमीन खोजी जा रही है। जमीन मिलने पर ही कूड़ा डंपिंग की समस्या का स्थाई निदान संभव है। जमीन खोजी जा रही है। -रजनीश कुमार, ईओ, नगर परिषद।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर आप कुछ समय से स्थान परिवर्तन की योजना बना रहे हैं या किसी प्रॉपर्टी से संबंधित कार्य करने से पहले उस पर दोबारा विचार विमर्श कर लें। आपको अवश्य ही सफलता प्राप्त होगी। संतान की तरफ से भी को...

और पढ़ें