पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विरोध:बाबा रामदेव के खिलाफ डॉक्टराें ने दोपहर तक ओपीडी बंद किया, बिना इलाज के लौटे मरीज

समस्तीपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ओपीडी में लटका ताला। - Dainik Bhaskar
ओपीडी में लटका ताला।
  • सदर अस्पताल में 12 बजे तक डॉक्टरों के आने का इंतजार करते रहे मरीज, उसके बाद भी नहीं आए

योग गुरु बाबा रामदेव के खिलाफ शुक्रवार को जिले के डॉक्टर आंदोलित हो उठे। सरकारी व निजी अस्पतालों में दिन के 12 बजे तक ओपीडी सेवा बंद रही। जिससे मरीज व उनके परिजनों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। उपचार कराने के लिए बारिश में किसी तरह अस्पताल पहुंचे लोगों को निराशा हाथ लगी। अधिकतर लोगों को बिना उपचार के ही वापस लौटना पड़ा। डॉक्टर आइएमए के आह्वान पर हड़ताल पर थे। डॉक्टरों ने बाबा रामदेव को गिरफ्तार करने तक की मांग की। सबसे अधिक परेशानी सदर अस्पताल में उपचार कराने के लिए पहुंचने वाले गरीब मरीजों को हुई। मरीजों को बताया गया कि दिन के 12 बजे तक डॉक्टर हड़ताल पर हैं तो लोग 12 बजे के बाद भी अस्पताल परिसर में जमे रहे, लेकिन उसके बाद भी डॉक्टर नहीं आए। जिससे लोगों ने आक्रोश भी व्यक्त किया। बाद में मरीजों को सुरक्षा गार्ड ने बताया कि अब डॉक्टर शाम चार बजे से मरीजों को देखेंगे। जिससे बाद बारिश को देखते हुए कई मरीज लौट गए। दौलतपुर की रीना देवी ने बताया कि वह सुबह बुखार से पीड़ित नवजात पुत्र को डॉक्टर से दिखाने के लिए अस्पताल आयी थी। लेकिन ओडीपी के बच्चा वार्ड में ताला लगा हुआ था। बाद में सुरक्षा गार्ड ने बताया कि डॉक्टर हड़ताल पर हैं। वह इमरजेंसी में भी गई लेकिन वहां भी बच्चा को नहीं देखा गया। उसे बताया गया कि 12 बजे के बाद डॉक्टर मरीज को देखेंगे। वह 12 बजे तक इंतजार करती रही, लेकिन डॉक्टर नहीं आए। सुरक्षा गार्ड ने बताया कि अब चार बजे से डॉक्टर आएंगे। जिसस निराश हो कर लौट रही है। उधर, काशीपुर के अभिषेक कुमार को सिर में जख्म है। पूर्व में उसका उपचार इमरजेंसी में हुआ था।

डॉक्टर हड़ताल पर थे, लेकिन रजिस्ट्रेशन कर्मी काट रहे थे पर्ची

आईएमए के पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत डॉक्टर हड़ताल पर थे लेकिन निबंधन काउंटर में कर्मी द्वारा पूर्जा काटा जा रहा था जिसमें डॉक्टरों का कमरा भी एलार्ट किया जा रहा था। हालांकि जब मरीज कमरा के पास पहुंचते थे तो वहां ताला देख लोगों को निराशा होती थी। कमियों का कहना था कि चुकी डॉक्टर हड़ताल पर हैं वे लोग कार्य कर रहे हैं इस लिए पूर्जा काटा जा रहा है।

आईएमए की बैठक कर हड़ताल का लिया गया था निर्णय
आईएमए ने दोपहर 12 बजे तक ओपीडी बंद करने का निर्णय लिया था। गुरुवार देर शाम स्थानीय आईएमए के बैनर तले डॉक्टरों ने वर्चुअल बैठक में ओपीडी बंद रखने का फैसला लिया था। भाषा ने भी आंदोलन में साथ दिया। इमरजेंसी व कोविड सेवा जारी रखने की सहमती बनी थी। आईएमए के सह सचिव डॉ हेमंत कुमार ने बताया कि चार घंटा कार्य बंद किया गया था।

वायरल वीडियो में एलोपैथिक दवाओं पर कई गंभीर सवाल उठाए

बाबा रामदेव का दो मिनट 19 सेकेंड का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसमें वे साधकों के सामने अपने फोन पर मैसेज पढ़ते हुए दिख रहे हैं। जिसमें उनकी ओर से एलोपैथिक दवाओं पर कई गंभीर सवाल उठाए जा रहे हैं। एलोपैथिक की सभी दवाइयां फेल हो गई हैं। बुखार की तक दवा काम नहीं कर रही है। दवा शरीर का तापमान तो नीचे उतार देती है, लेकिन बुखार क्यों आ रहा है।

खबरें और भी हैं...