मरीजों की बढ़ती संख्या के बावजूद लोग सजग नहीं हैं / रोसड़ा में संक्रमित मरीजों की संख्या 10 होने के बाद भी लोग बिना मास्क लगाए ही निकल रहे हैं घर से

रोसड़ा में बिना मास्क लगाए ही सड़क पर दिख रहे लोग। रोसड़ा में बिना मास्क लगाए ही सड़क पर दिख रहे लोग।
X
रोसड़ा में बिना मास्क लगाए ही सड़क पर दिख रहे लोग।रोसड़ा में बिना मास्क लगाए ही सड़क पर दिख रहे लोग।

  • लोग इस तरह बाजार व सड़कों पर आवाजाही करते हैं, जैसे कोरोना वायरस ही हो चुका है खत्म

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 05:00 AM IST

समस्तीपुर. प्रखंड क्षेत्र में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की बढ़ती संख्या के बावजूद लोग सजग नहीं हो रहे हैं। पुलिस प्रशासन द्वारा सख्ती बरते जाने के बाद भी  बाजार में सामान खरीद - बिक्री करने वाले एवं दुकानदारों द्वारा सोशल डिस्टेंस तथा लॉकडाउन की उड़ाई जा रही है धज्जियां। यही कारण है कि पिछले दिनों शहर के 6 कपड़ा एवं रेडिमेड दुकानदारों के खिलाफ पुलिस प्रशासन ने लॉकडाउन उल्लंघन के आरोप में स्थानीय थाने में प्राथमिकी दर्ज कराया था। खासकर सब्जी मंडी में नित्य लगे भीड़ पर यदि नियंत्रण नहीं पाया गया तो लोगों के लिए यह परेशानी का सबब बन सकता है। वहीं दूसरी ओर अभी भी घर से बगैर मास्क लगाए बाजार की ओर निकल पड़ते हैं। इससे संक्रमण फैलने का खतरा बना रहता है। दुकान या बाजारों में लोग बिना भय के ही आना-जाना करने लगे हैं। इस तरह मालूम पड़ता है कि कोरोना वायरस खत्म हो चुका है। 
10 कोरोना मरीज मिलने के बाद भी लाेगाें में जागरूकता की कमी
पुलिस प्रशासन द्वारा इस ओर  सख्ती से पेश आने के बाद भी लोग अपने हरकत से बाज नहीं आ रहे हैं। लोगों को इस महामारी से बचने के लिए स्वयं आगे आना पड़ेगा । प्रखंड क्षेत्र में अभी भी प्रवासी मजदूरों का आने का सिलसिला जारी देखते हुए क्वारेंटाइन सेंटरों की संख्या बढ़ाई गई है। बीडीओ महताब अंसारी ने बताया कि प्रखंड के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में 25 क्वारेंटाइन सेंटर संचालित है जिसमें 1006 प्रवासी आवासित हैं। इसके पूर्व 13 लोगों की अवधि पूरा होने के बाद 7 दिनों के होम क्वारेंटाइन पर भेजा गया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना