पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

परेशानी:सोनवर्षा चौक व काशीपुर की कई गलियों में बाढ़ जैसे हालात, केई इंटर की जर्जर सड़क पर सन्नाटा

समस्तीपुर24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
केई इंटर की जर्जर सड़क पर छाया सन्नाटा, लोग चलने से कर रहे परहेज। - Dainik Bhaskar
केई इंटर की जर्जर सड़क पर छाया सन्नाटा, लोग चलने से कर रहे परहेज।
  • लोगों का पैदल निकलना मुश्किल, बाइक व चार पहिया वाहन वाले डर-डर कर पार कर रहे हैं जलजमाव

चक्रवाती प्रभाव के कमजोर होने के बाद शनिवार की सुबह आकाश में काले बादल छाए पर बारिश नहीं हुई। दिन में धूप भी निकली। इसके बावजूद शहर के हालात में बदलाव नहीं हुआ। बताया जाता है कि शहर के कई रिहायशी इलाकों में 24 घंटे के बाद भी बारिश का पानी जमा है। शहर की सड़कों की इस हालात ने बीते वर्ष 3 माह तक शहर में जलजमाव के स्थिति की याद दिला दी। आज स्थित यह है कि शहर के काशीपुर की लक्ष्य गली, पुरानी वीमेंस कॉलेज गली, केई इंटर रोड, सोनवर्षा चाैक, मोहनपुर रोड आदि जगहों पर बाढ़ जैसे हालात हैं। खासकर केई इंटर रोड के जर्जर होने के कारण वहां की सड़क पर जलजमाव से कर्फ्यू जैसे हालात हैं। वहां पैदल क्या हर काई बाइक व चार पहिया से निकलने से भी परहेज कर रहा है। सड़क पर दिन के समय सन्नाटा छाया रहा। वहीं अन्य सड़कों पर लोगों का पैदल चलना मुश्किल हो गया है। दो व चार पहिया वाहन चालक भी डर-डर कर गाड़ी चला रहे हैं।
15 जून से मानसून आगमन पर बदहाल हो सकती है स्थिति : बताया जाता है कि मानसून के समय से 15 जून तक आने की संभावना है। जिसके बाद मानसूनी बारिश से शहर की सड़कों व आवासीय मोहल्लों में जलजमाव से स्थिति बदहाल हो सकती है। बीते वर्ष भी बारिश के समय शहर में तीन माह स्थिति बिगड़ी थी।
नाला सफाई पूरी नहीं होने से आ रही जलजमाव की परेशानी : नगर प्रशासन की ओर से नाला सफाई शुरू तो की गई मगर इसकी सफाई पूरी नहीं होने के कारण आज सड़कों व गली में जलजमाव हो रहा है। पहले सड़कों से 5-6 घंटे में निकासी हो जाती थी वहां आज 24 घंटे से पानी जमा है। चलना मुश्किल है।

तेज बारिश से तीन घर गिरे, मुआवजे की मांग

भारी बारिश से प्रखंड की हरपुर बोचहा में एक व मऊ धनेशपुर दक्षिण पंचायत में दो घर गिर गए। अंचलाधिकारी अजय कुमार को हरपुर बोचहा वार्ड 6 निवासी अवधेश चौरसिया, मऊ धनेशपुर पंचायत वार्ड 1 के रामविलास साह की पत्नी उषा देवी व स्व नागेश्वर साह की पत्नी राधा देवी ने आवेदन देकर मुआवजे की मांग की है। अंचलाधिकारी अजय कुमार ने बताया कि दो पंचायत में 3 घर गिरने का आवेदन मिला है। जांच कर कार्रवाई होगी।

एसडीओ ने किया बूढ़ी गंडक नदी के तटबंध का निरीक्षण

एसडीओ ब्रजेश कुमार व कार्यपालक अभियंता बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल रोसड़ा अख्तर जमील ने संयुक्त रूप से बूढ़ी गंडक नदी के दोनों ओर के तटबंधों का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दरम्यान संवेदनशील, अतिसंवेदनशील स्थल का बारीकी से जांच के बाद अपना प्रतिवेदन दिया। बूढ़ी गंडक नदी के बायां तटबंध के 107 किमी त्रिमुहानी से लेकर 94 किमी दौलतपुर कोठी तक के भाग और दायां तटबंध 96 किमी सिंघिया बुजुर्ग से 70 किमी संजात तक के निरीक्षण क्रम में नरहन स्लूईस, बोरिया, सलखन्नी और बायां तटबंध के रजवाड़ा, रहुआ, धर्मपुर में रैनकट देखा गया, जिसे बाढ़ पूर्व मरम्मत कराने की आवश्यकता है। वहीं संवेदनशील स्थलों पर बाढ़ के पूर्व मिट्टी भरे बोरे,बालू भरे बोर का भंडारण की आवश्यकता महसूस की गई।

खबरें और भी हैं...