पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

समस्या उत्पन्न:कमला, जीवछ व करेह में पानी के उफान के कारण सिंघिया में मंडराया बाढ़ खतरा

सिंघियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिंघिया नदियों में जलवृद्धि के कारण बाढ़ के पानी के बीच घिरता गांव। - Dainik Bhaskar
सिंघिया नदियों में जलवृद्धि के कारण बाढ़ के पानी के बीच घिरता गांव।
  • पानी में डूबने से फसल होने लगी है बर्बाद
  • जल बढ़ोतरी होने के कारण फसल की बर्बादी शुरू हो चुकी है
  • पशुपालक किसान के सामने एक बार फिर से चारे की समस्या उत्पन्न होना शुरू हो चुकी है
  • सड़क पर पानी बहने के बाद लोगों की परेशानी अब बढ़ने लगी है

प्रखंड क्षेत्र होकर गुजरने वाली कमला, जीवछ व करेह नदी में उफान जारी है। स्थानीय लोगों के अनुसार जहां कमला व जीवछ नदी में विगत 24 घंटा में 1 फिट ऊंची पानी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। वहीं विभगीय आकड़े के अनुसार करेह नदी खतरे की निशान से 53 सेंटीमीटर ऊपर बह रही है। विगत एक सप्ताह से नदियों में लगातार हो रही जल बढ़ोतरी के कारण महरा, वारी, कुंडल टू, बंगरहट्टा, हरदिया, क्योटहर आदि पंचायत में निचला इलाका जलमग्न होने लगा है।

निचला इलाका जलमग्न होने के कारण पैनश्ल्ला चौक से फुलवड़िया गांव तक जाने वाली सड़क पर बंगठैया में करीब 20 फिट के दायरा में सड़क के ऊपर घुटना भर पानी बहने लगा है। सड़क पर पानी बहने के बाद लोगों की परेशानी अब बढ़ने लगी है। जल बढ़ोतरी होने के कारन फसल की बर्बादी शुरू हो चुकी है। बाढ़ का पानी किसानों के खेतों में तबाही मचाते हुए अब पानी ऊपरी इलाकों में फैलाना शुरू हो चुका है।

निचले इलाके की गांव बिसहरियां, मुशहरनियां, कंजरा, बंगठैया धनहो, बस्ती, मिल्की राम टोला, नवटोलिया, जीबुडिहुली आदि गांव पानी के बीच घिरना शुरू हो चुका है। स्थानीय लोगों का अंदाजा है कि नदियों में पानी का बढ़ने की रफ़्तार जारी रहा तो एक दो दिन के भीतर इन सभी गांवों की सड़क संपर्क प्रखंड मुख्यालय से भंग हो जाएगा। बाढ़ का पानी नए इलाका में फैलने के कारण बंगरहट्टा, हरदिया, निरपुर भररिया, वारी आदि पंचायतों में फसल क्षति होने की संभावना बढ़ गई है। वहीं पशुपालक किसान के सामने एक बार फिर से चारे की समस्या उत्पन्न होना शुरू हो चुकी है।

खबरें और भी हैं...