रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर वसूली:कार्मिक विभाग के पूर्व कार्यालय अधीक्षक व एएसएम ने की 5 लाख की ठगी

समस्तीपुर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 4.87 लाख रुपए लेकर दिया ज्वाइनिंग लेटर निकला फर्जी, नगर थाने में नामजद एफआईआर

रेलवे में नौकरी दिलाने के नाम पर कार्मिक विभाग के पूर्व कार्यालय अधीक्षक व उसके एएसएम भाई ने एक युवक से पांच लाख रुपए की ठगी कर ली। इस मामले में पीड़ित दरभंगा के हायाघाट थाने के मकसूदपुर निवासी राजेश कुमार सिंह ने नगर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है। इसमें कार्यालय अधीक्षक अशोक कुमार साहु के अलावा उसके भाई एएसएम मनोज कुमार साहु व अशोक की पत्नी माधुरी साहु को नामजद किया गया है। उधर, प्राथमिकी दर्ज हाेने के बाद आरोपी फरार हो गए हैं। हालांकि सीनियर डीपीओ ओम प्रकाश सिंह ने पूछने पर बताया कि अशोक साहु को सेवा समीक्षा के उपरांत करीब डेढ़ वर्ष पूर्व अनिवार्य सेवानिवृति दी जा चुकी है। अब वह नौकरी में नहीं है। हालांकि उसने नौकरी करते हुए ठगी की है।

अप्रैल 2019 में किया था किस्त में भुगतान
प्राथमिकी में राजेश सिंह ने आरोप लगाया है कि उनके पिता राम प्रगट सिंह फरवरी 2009 में सेवानिवृत हो गए थे। सेवानिवृति के बाद पीपीओ व अन्य विभागीय कार्य के लिए वह डीआरएम कार्यालय आता जाता रहा है। इसी दौरान कार्मिक विभाग के कार्यालय अधीक्षक अशोक साहु से मिलना जुलना होता रहता था। दौरान अशोक ने रेलवे में नौकरी दिला देने की बात कही। इसके लिए अपने भाई एएसएम मनोज साहु के धरमपुर स्थित आवास पर मिलने के लिए बुलाया। वहां नौकरी दिलाने के बदले पांच लाख की मांग की। नौकरी की लालच में आकर अप्रैल 2019 को 4.67 लाख रुपए किस्तों में दिया।

जनवरी में आया याेगदान पत्र निकला फर्जी

जनवरी 2021 को डाक से योगदान पत्र मिला। जब वह योगदान करने डीआरएम कार्यालय पहुंचा तो बताया गया कि योगदान पत्र नकली है। बाद में वह मंडलीय रेलवे अस्पताल पहुंचे तो वहां भी उनके पत्र को नकली बता दिया गया। इसके बाद वह अशोक व मनोज के पास पहुंचे तो दोनों उसे धमकी देने लगा। अधिकारियों के पास शिकायत नहीं करने पर रुपए वापस कर देने का भरोसा दिया। पैसा देने के लिए डीआरएम आवास के पीछे कालीमंदिर के पास बुलाया जहां अशोक, मनोज व अशोक की पत्नी ने मारपीट कर जख्मी कर गोली मारना चाहा लेकिन वहां से भाग निकला। बाद में मामले की जानकारी डीआरएम को दी तो अशोक ने 1.30 लाख रुपए वापस किया। लेकिन शेष राशि अबतक नहीं दिया है।

खबरें और भी हैं...