पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

परेशानी:मानसून में हुई 1100 एमएम बारिश बादल नहीं होने से उमस व गर्मी बढ़ी

समस्तीपुर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • मौसम : सितंबर माह में सक्रिय नहीं है मानसून, बनी रहेगी लोगों की परेशानी

अमूमन मानसून मध्य जून से सितंबर माह तक रहता है। मगर इस वर्ष सितंबर के मध्यम आते-आते उत्तर बिहार में मानसून सक्रिय नहीं रह गया है। इसके बावजूद मानसून के दौरान अगस्त माह तक ही 1100 एमएम से ज्यादा बारिश हो चुकी है। जिसके कारण वातावरण में इतनी ज्यादा नमी मौजूद है कि लोगों को सुबह की धूप में भी उमस झेलनी पड़ती है। वहीं मानसून के सक्रिय नहीं रहने से आकाश बादलों के मामले में खाली पड़ गया है।

जिससे तेज गर्मी का एहसास लोगों को परेशान कर रहा है। इसके बारे में मौसम वैज्ञानिक सह पूसा मौसम विभाग के नोडल पदाधिकारी डॉ. अब्दुस सत्तार ने बताया इस बार मानसून अपने शुरूआती दौर में बहुत ज्यादा बरस चुका है। जिससे अभी मानसून के सक्रिय नहीं होने के बावजूद वातावरण में अत्यधिक नमी मौजूद है। वहीं मानसून के सक्रिय नहीं होने से आकाश में बादल नहीं है। इससे दिन के समय धूप पूरी तरह से गर्म होकर हमारे पास आ रही है। जिससे तेज गर्मी का एहसास परेशान कर रहा है। वैज्ञानिक ने बताया कि मानसून में अत्यधिक बारिश होने से वातावरण में काफी नमी मौजूद है। जिससे अभी भी सुबह के समय वातावरण में 80-90 फीसदी व दोपहर में धूप के बावजूद 50-60 फीसदी नमी मौजूद रह रही है। जिसके कारण सूर्य उदय होने के साथ ही लोगों को तेज उमस परेशान करने लगती है।

खबरें और भी हैं...