पहले चरण में हुआ 62 फीसदी मतदान:आधे दिन तक हुए 35 % मतदान में 90 % से ज्यादा महिलाएं शामिल, अंतिम 5 घंटे में पुरुषों ने डाले वोट

समस्तीपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रामकृष्णपुर गंज मध्य विद्यालय के बूथ 145 पर छांव में बैठी महिला वोटर। - Dainik Bhaskar
रामकृष्णपुर गंज मध्य विद्यालय के बूथ 145 पर छांव में बैठी महिला वोटर।
  • समस्तीपुर, ताजपुर और पूसा प्रखंड में शांतिपूर्ण हुआ मतदान, वोट गिराने सहारा लेकर निकले बुजुर्ग

कहते हैं मतदाता लोकतंत्र की नींब होते हैं। वहीं आधी आबादी की इसमें पूरी भागीदारी हो जाए तो इसको पूरी मजबूती मिलती है। इस बार पंचायत चुनाव में ऐसा ही देखने को मिला। पंचायत आम चुनाव के पहले चरण में जिला में बुधवार को लोकतंत्र को आस्था का पूरा सहयोग मिला। इसी दिन जितिया व्रतधारियों का दूसरे दिन का निर्जला उपवास था। इसको लेकर सुबह से ही महिलाओं की भीड़ मतदान केंद्रों पर दिखी। पुरूष मतदाताओं ने भी महिलाओं को पहले मतदान गिराने की पहल की।

इसका नतीजा यह हुआ कि मतदान के पहले पांच घंटे में हुए 35 फीसदी मतदान में 90 फीसदी से ज्यादा महिला वोटर शामिल हुई। इस दौरान किसी बूथ पर लाइन में पुरूष मतदाता नहीं के बराबर दिखे। अधिकांश जगहों पर 24-36 घंटे से निर्जला महिला वोटरों ने बैठकर अपनी बारी का इंतजार किया। कर्पूरीग्राम के राजकीय मध्य विद्यालय बूथ 147 पर पानवती देवी, भारती कुमारी, सुनीता देवी, सुजीता देवी, सीता देवी, रोमा कुमार सहित दर्जनों महिलाएं व नीरपुर हाट उमवि पर दर्जनों व्रती महिलाएं प्यास के मारे लाइन में बैठी रही। वहीं अंतिम पांच घंटे में पुरूष मतदाताओं ने मतदान किया। इस दौरान मतदान शांतिपूर्ण रहा।

अधिकतर जगहों पर 24-36 घंटे से निर्जला उपवास करने वाली महिला वोटरों ने बैठकर अपनी बारी का इंतजार किया

वोट अधिकार का प्रयोग कर किया अव्यवस्था का बहिष्कार
वोटिंग के दौरान ही रामकृष्णपुर गंज मध्य विद्यालय के बूथ 145 पर वोट गिराने वाली महिला मतदाता ने अव्यवस्था का बहिष्कार किया। संगीता देवी ने बताया कि जमीन दिए पर सड़क नहीं बनी। बरसात के दौरान दो फीट पानी व कीचड़ में लोग बीमार हुए हैं।

81 वर्ष की बीमार सुहगिया देवी को गोदी में ले गए बूथ

वहीं रामकृष्णपुर गंज के उत्क्रमित मवि क बूथ 144 पर बीमार सुहगिया देवी को उनके परिजन गोद में उठाकर वोट के लिए ले गए। वह 81 वर्ष की हैं। वहीं रास्ता नहीं होने व कीचड़ के कारण उनका पैदल मतदान केंद्र पर जाना संभव नहीं था।

92 वर्ष की चमेली ने बताया हम खुद से बटन दबाए

कर्पूरीग्राम पंचायत के प्रावि अनुसूचित जाति टोला के बूथ 146 पर वोट देने पहुंचे 92 वर्ष की चमेली देवी ने बताया कि उन्होंने खुद से बटन दबाकर वोट गिराया। वो हरबार हर चुनाव में अपना वोट गिराती है। उन्होंने सभी को वोट करने की अपील की।
बायोमेट्रिक सिस्टम ने दिया धोखा, इसके बिना ही चुनाव

जिला में कुछ मतदान केंद्रों पर पंचायत चुनाव बायोमेट्रिक सिस्टम से शुरू कराया गया मगर यह ज्यादा समय तक नहीं चल सका। काफी परेशानी के बाद में प्रशासन ने इसके बिना ही चुनाव कराने की अनुमति दी। उसके बाद मतदान हो पाया।

खबरें और भी हैं...