पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

विडंबना:नेताजी वादा करते-करते बिता दिए चार साल, फिर भी नहीं बनी बागमती नदी के बायें तटबंध पर सड़क, उग गई बड़ी-बड़ी घासें

समस्तीपुर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • सेदुखा गांव स्थित महावीर मंदिर से लेकर गुदारघाट दुर्गा मंदिर तक की सड़क कब बनेगी, यह किसी को पता नहीं है

प्रखंड अंतर्गत बागमती नदी के बायें तटबंध पर सेदुखा गांव स्थित महावीर मंदिर से लेकर गुदारघाट दुर्गा मंदिर तक सड़क का कार्य कब पूर्ण होगा यह लोगों को अब भी पता नहीं है।करीब 4 वर्षों से यह सड़क अबतक अधूरा पड़ा है। करीब चार वर्ष पूर्व सड़क का निर्माण कार्य प्रारंभ किया गया थ। लेकिन बीच में ही सड़क का कार्य अधूरा छोड़ दिया गया। जानकारी के अनुसार सेदुखा गांव स्थित हनुमान मंदिर से गुदारघाट भगवती मंदिर तक करीब 4 किलोमीटर में बांध पर सड़क का निर्माण कार्य शुरू की गई।

उस समय बांध पर सड़क निर्माण के लिए पत्थर, मिट्टी डाल दिया गया। लेकिन उसके बाद सड़क का निर्माण कार्य अचानक रुक गई।तब से आज तक फिर से सड़क का बांकी कार्य नहीं हो सका। स्थानीय लोगों ने बताया कि हमलोगों को यह भी नहीं पता है कि किस विभाग व किस मद से या फिर कितनी लागत से सड़क का निर्माण कार्य शुरू हुई थी। कहीं पर निर्माण कार्य का शिलापट्ट भी नहीं दिख रहा है।लोगों ने बताया कि जब निर्माण कार्य शुरू हुई थी, तब हमलोगों में एक आशा की किरण दिखाई दी कि अब समस्या समाप्त हो जाएगी।

लेकिन जब निर्माण कार्य वर्षों से रुकी है तो फिर आशा निराशा में बदल गई। कंक्रीट बिछाई सड़क पर चलने में परेशानी हो रही है। लोगों ने बताया कि यह सड़क बंधार होते हुए गुदारघाट की मुख्य सड़क को जोड़ती है। सड़क पर उखड़ा हुआ गिट्टी, पत्थर की वजह से चलने में काफी परेशानी हो रही है। नदी के बांध पर सड़क होने के कारण इस सड़क को बनना और जरूरी इसलिए है कि सड़क का निर्माण कार्य होने के बाद बांध में और मजबूती आ जाएगी।जब सड़क का निर्माण कार्य शुरू हुई थी तब काफी तेजी में काम किया जा रहा था।लेकिन अचानक ऐसी क्या मजबूरी हुई कि निर्माण कार्य अवरुद्ध हो गया।

बारिश से पूरी तरह जर्जर हुई सड़क, इसके निर्माण से समस्तीपुर जाने में होती सुविधा
बताया गया कि सेदुखा, बंधार होते हुए गुदारघाट व बल्लीपुर को इस सड़क जोड़ती है। इन गांवों के लिए यह समस्तीपुर या फिर सादीपुर को जोड़ने के लिए मुख्य मार्ग है। लोगों ने बताया कि बारिश की वजह से सड़क में कई जगहों पर रेनकट भी गया है। इस कारण सड़क टूटकर बिखरने लगी है। लेकिन अबतक कालीकरण नहीं हो पाई है। यहां इस सड़क तक पहुंचने के लिए भी लोगों जर्जर सड़क का ही सामना कर पहुंचना पड़ता है। खानपुर से सादीपुर तक सड़क की जर्जर हालत से गुजरकर पुनः इस जर्जर सड़क पर आने को मजबूर होना पड़ रहा है। लोगों का बताना है कि प्रखंड की कई ग्रामीण इलाके की सड़क बनकर तैयार हो गया है। गली-गली में ढलाई की जाती है। लेकिन जो एक गांव से दूसरे गांव को जोड़ने वाली प्रमुख सड़क है, उसकी आजतक उपेक्षा ही की गई है। अब सड़क के दोनों तरफ बड़ी-बड़ी घासें, जंगल उग आई है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने का प्रोग्राम बन सकता है। साथ ही आराम तथा आमोद-प्रमोद संबंधी कार्यक्रमों में भी समय व्यतीत होगा। संतान को कोई उपलब्धि मिलने से घर में खुशी भरा माहौल ...

और पढ़ें