पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रेल यात्री को मिलेगी सुविधा:मुक्तापुर में एक करोड़ से बना फुटओवर ब्रिज, अब रेललाइन पार नहीं करना पड़ेगा

समस्तीपुर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गार्डर चढ़ाए जाने के बाद एडीआरएम के साथ अभियंताओं की टीम। - Dainik Bhaskar
गार्डर चढ़ाए जाने के बाद एडीआरएम के साथ अभियंताओं की टीम।
  • दोहरीकरण के बाद दूसरे प्लेटफाॅर्म पर जाने में यात्रियों को होगी सहुलियत
  • समस्तीपुर-दरभंगा रेलखंड पर तीन घंटे का मेगा ब्लाॅक लेकर चढ़ाया गया गार्डर

समस्तीपुर-दरभंगा रेलखंड पर शहर से सटे मुक्तापुर स्टेशन पर रविवार को फुटओवर ब्रिज का गार्डर चढ़ाने का काम पूरा कर लिया गया। गार्डर चढ़ाए जाने के लिए रेलवे के अभियंताओं ने इस रेलखंड पर तीन घंटे का मेगा ब्लॉक लिया था।

फुट ओवर ब्रिज के निर्माण के साथ ही अब इस स्टेशन पर से यात्रा करने वाले यात्रियों को दूसरे प्लेटफार्म पर जाने में आसानी होगी। पूर्व में फुटओवर ब्रिज नहीं रहने के कारण लोगों को रेलवे लाइन पार कर दूसरे प्लेटफार्म पर जाना होता था, जिससे अबतक दो दर्जन से अधिक रेल यात्रियों की ट्रेन से कट कर मौत हो चुकी है। पुल का निर्माण करीब एक करोड़ रुपए की लागत से कराया जा रहा है। कार्य स्थल पर एडीआरएम जेके सिंह ने बताया कि गार्डर चढाने में सुबह 10.25 बजे से दोपहर 1.20 बजे तक का ब्लॉक लिया गया था।

इस दौरान रेलवे के इंजीनियरिंग, निर्माण विभाग, टीआरडी के 50 कर्मियों की मदद से कार्य पूरा किया गया। पुल की लंबाई करीब 36 मीटर की है। अभी इस पुल को प्लेटफार्म टू प्लेटफार्म रखा गया है। बाद में इसका विस्तार कर मालगोदाम की ओर किया जा सकेगा। गार्डर चढ़ाए जाने के दौरान निर्माण विभाग के डिप्टी चीफ इंजीनियर रीतेश कुमार, सीनियर डीईएन डीके गुप्ता, विजय शंकर सिंह, एरियन अब्दुल समद, दिनेश कुमार , जर्नाधन प्रसाद, अमति कुमार आदि अभियंता थे।

गत वर्ष ही पुल को बन कर हो जाना था तैयार, लॉक डाउन के कारण देरी

इस फुट ओवर ब्रिज को वित्तीय वर्ष 2019-20 में बन कर तैयार होना था। लेकिन लॉक डाउन व कोरोना के कारण पुल का निर्माण कार्य पूरा नहीं हो सका था। पुल का निर्माण नहीं होने यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। निर्माण विभाग के अभियंता विजय शंकर सिंह ने बताया कि गार्डर चढ़ाने के बाद अब पुल के बीच का रास्ता, रोशनी व शेष बचे कार्य को जल्द से जल्द पूरा किया जाएगा। ताकि पुल को यात्रियों के लिए खोला जा सके।

दोहरीकरण के बाद यात्रियों की बढ़ गई थी परेशानी

समस्तीपुर- किसनपुर दोहरीकरण के बाद इस स्टेशन से यात्रा करने वाले यात्रियों को दूसरे प्लेटफार्म पर जाने में परेशानी हो रही थी। प्लेटफार्म की उंचाई बढ़ाये जाने के बाद यात्रियों को रेलवे लाइन के रास्ते प्लेटफॉर्म पर चढ़ने में दिक्कत हो रही थी।

खबरें और भी हैं...