श्रीकृष्ण की पूजा-अर्चना:बहनों ने की भाई कीे लंबी उम्र की प्रार्थना

समस्तीपुर24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

भैया-दूज के अवसर पर शनिवार को बहनों ने उपवास रखकर अपने भाई की लंबी उम्र के लिए प्रार्थना की। इस पर्व को शहर से गांव तक खासा उत्साह के साथ मनाया गया। महिलाओं ने नए कपड़े व जेवर पहनकर आंगन व दरवाजे पर भगवान श्रीकृष्ण की पूजा की और मिलकर गीत गाया। स्टेशन रोड मोहल्ले की गुड़िया, जूली व पूजा सहित दर्जनों बहनों ने इस पर्व से जुड़ी कहानी बताई। जिसे उन्होंने परिवार के बुजुर्गों से सुनी थी। उन्होंने बताया कि एक बार श्रीकृष्ण ने गोपियों को रासलीला के दौरान एक टीले को तोड़ने को कहा।

गोपियों ने देखते ही देखते पलभर में ही उसे ध्वस्त कर दिया। बाद में पता चला कि उस टीले की आर से एक गोपी का भाई जिसका नाम गोधन था, उनकी रासलीला को देख रहा था। वो टीले के टूटने से दबकर मर गया। गोपियों की प्रार्थना के बाद भगवान ने उसे जीवित कर दिया था। महिलाओं ने बताया कि इसी के उपलक्ष में हम बहनें भगवान श्रीकृष्ण का पूजन कर भैया दूज मनाती हैं और अपने भाई की लंबी उम्र की कामना करती हैं। इस अवसर पर बहनों ने टीले का प्रतीक ईट को मूसल से तोड़ा।

साथ ही वहां चढ़ाया हुआ प्रसाद अपने भाईयों को खिलाकर उनके लंबे उम्र की कामना की। भैया दूज के बारे में काशीपुर की सविता कुमारी ने बताया कि वे गोधन कूटने तक उपवास करती हैं। वहीं शादीशुदा बहनें इस दिन अपने भाईयों को घर पर बुलाकर प्रसाद खिलाती हैं। भाई के साथ खाना खाती हैं। इससे भाई-बहन का स्नेह संबंध मजबूत होता है।

खबरें और भी हैं...