पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

फेरबदल:हटाए गए नगर थानाध्यक्ष सीताराम प्रसाद व दारोगा सरयुग मिस्त्री, रोसड़ा थानाध्यक्ष अरुण कुमार बने नगर थानाध्यक्ष

समस्तीपुर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • इंस्पेक्टर सीताराम व सरयुग मिस्त्री को हाई कोर्ट ने जमीन कब्जा के एक मामले में दोषी माना था

पटना हाईकोर्ट व चुनाव आयोग के आदेश एसपी विकास बर्मन ने नगर थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर सीमाराम प्रसाद व दारोगा सरजू मिस्त्री को हटा दिया है। रोसड़ा थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर अरुण कुमार राय को नगर थानाध्यक्ष बनाया है। जबकि सीताराम प्रसाद को रोसड़ा का थानाध्यक्ष बनाया गया है। पुलिस सूत्रो ने बताया कि अरुण हाल ही में मधुबनी जिला से बदल कर समस्तीपुर आए थे। जिन्हें एक महीना पूर्व रोसड़ा भेजा गया था। एसपी ने यह कार्रवाई स्थानीय कोर्ट के वरीय अधिवक्ता आनंद किशोर सिन्हा द्वारा पटना हाईकोर्ट में दायर याचिका के बाद हाईकोर्ट के आदेश पर किया है।

गौरतलब है कि हाईकोर्ट के आदेश के बाद इस मामले में आचार संहिता लागू रहने के कारण चुनाव आयोग से अनुमति मांगी गई थी। गुरुवार देर शाम चुनाव आयोग से अनुमति पत्र आने के बाद देर शाम जिला आदेश जारी किया गया। पुलिस सूत्रो ने बताया कि याचिका में आरोप लगाया था कि 9 जून 2020 को आरोपियों ने उनके मकान पर हमला कर घर पर कब्जा कर लिया और संपत्ति की लूटपाट की। याचिका में इस बात का भी जिक्र किया गया था कि आरोपियों ने उन्हें घर से बेदखल कर यहां पर नए ढंग से निर्माण कार्य भी शुरू कर दिया है।

स्थानीय कोर्ट के वकील आनंद किशोर सिन्हा ने दायर की थी हाईकोर्ट में याचिका

चुनाव आयोग के आदेश पर कार्रवाई

न्यायालय में दायर याचिका में इस बात की भी शिकायत की गई है कि जब इस मामले को लेकर नगर थाने को सूचना दी गई तो पुलिस ने अपने स्तर से इस पर कोई कार्रवाई करने के बजाए उल्टे आरोपियों की ही मदद करने लगी। हाईकोर्ट ने वकील को अंगरक्षक देने के अलावा पूरे परिवार की सुरक्षा व्यवस्था करने का आदेश दिया है। कोर्ट के आदेश पर वकील को सुरक्षा मुहैया करा दी गई है।

पटना हाई कोर्ट के आदेश के बाद इस मामले में चुनाव आयोग से अनुमति लेकर नगर थानाध्यक्ष सीताराम प्रसाद व दारोगा सरजू मिस्त्री को हटाया गया है। ताकि अधिवक्ता द्वारा लगाए गए आरोप की निष्पक्ष जांच हो सके। विकास बर्मन, एसपी

वकील का क्या था आरोप : वकील सिन्हा का आरोप है कि शहर के काशीपुर मोहल्ला में उनका मकान व कार्यालय है। जिसपर पड़ोसी प्रमोदानंद की नजर है। अपनी संपत्ति के साथ परिवार की सुरक्षा की गुहार लगाई तो पुलिस ने आरोपी प्रमोदानंद प्रसाद से मिल कर असामाजिक तत्वों की सहायता से उनके मकान व कार्यालय पर कब्जा करने के साथ ही लूट पाट की। यह घटना 9 जून 2020 को घटी। फिर 6 सितंबर को आरोपितों ने दुबारा मकान पर कब्जा करने के साथ ही उन्हें बेदखल कर दिया। उस स्थान पर निर्माण कार्य भी शुरू कर दिया। शिकायत के बाद भी पुलिस ने कार्रवाई नहीं की। जिसके बाद वकील श्री सिन्हा ने हाई कोर्ट में याचिका दायर की।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कड़ी मेहनत और परीक्षा का समय है। परंतु आप अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में सफल रहेंगे। बुजुर्गों का स्नेह व आशीर्वाद आपके जीवन की सबसे बड़ी पूंजी रहेगी। परिवार की सुख-सुविधाओं के प्रति भी आपक...

और पढ़ें