पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

लापरवाही:मोरवा में सड़क के मेंटेनेंस और रिपेयरिंग की समय-सीमा हो गई समाप्त, लेकिन अब तक कार्य भी शुरू नहीं किया जा सकता

समस्तीपुर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मोरवा में शिलान्यास के बाद भी नहीं बनी जर्जर सड़क। - Dainik Bhaskar
मोरवा में शिलान्यास के बाद भी नहीं बनी जर्जर सड़क।
  • जलजमाव व कीचड़नुमा सड़क पर लोगों को आवाजाही में हाे रही परेशानी, शिकायत के बाद भी जिम्मेदार को फिक्र नहीं

प्रखंड क्षेत्र के निकसपुर, सोंगर, चकपहाड़, चकसिकन्दर, गुुनाई बसही व मोरवा दक्षिणी पंचायत में मुख्यमंत्री ग्रामीण सड़क अनुरक्षण कार्यक्रम के तहत आधे दर्जन से अधिक सड़कों के मेंटेनेंस व रिपेयरिंग कार्य का शिलान्यास एक वर्ष पूर्व तत्कालीन विधायक ने किया था। सड़क का निर्माण कार्य करने वाली कंपनी द्वारा कार्यस्थल पर लगाए गए कार्ययोजना का बोर्ड लगभग भी लगा दिया गया था। उस बोर्ड पर कार्य आरंभ करने की तिथि 17 फरवरी 20 व कार्य समाप्ति की तिथि 26 सितंबर 20 अंकित है। कार्य समाप्ति की तय तिथि समाप्त हुए 9 माह से अधिक समय भी बीत गया। लेकिन सड़क पर एक कंक्रीट का टुकड़ा भी संवेदक व कंस्ट्रक्शन कंपनी द्वारा नहीं डाली गई।

सड़क निर्माण कार्य की समय सीमा समाप्त होने वाली सड़कों में 72 लाख रुपए की प्राक्कलित राशि से निकसपुर कॉलेज से बेसिक स्कूल रायटोल को जानेवाली सड़क, 20 लाख रुपए की प्राक्कलित राशि से पीडब्लूडी सड़क से एपीएचसी होते मंदिर को जानेवाली सड़क, 20 लाख रुपए रुपए की लागत से दुर्गा मंदिर अमृतपुर से ब्राह्मण टोल चंदौली जानेवाली सड़क, 35 लाख रुपए की प्राक्कलित राशि से चंदौली हाट से मिर्जापुर गांव आरईओ सड़क तक जानेवाली सड़क, 20 लाख रुपए की प्राक्कलित राशि से चकसिकन्दर पंचायत भवन से पुल तक जाने वाली सड़क व 19 लाख रुपए की प्राक्कलित राशि से रायटो ठाकुरबाड़ी के निकट सुसीत पथ से रायटोल जानेवाली सड़क समेत आधे दर्जन से अधिक सड़कें शामिल हैं।

सड़क हादसे का बना रहता है डर
जर्जर व गड्ढेनुमा सड़क पर निर्माण कार्यों का नहीं होने से व जलजमाव व कीचड़नुमा सड़क पर लोगों को आवाजाही में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इससे स्थानीय लोगों में काफी रोष व्याप्त है। शिलान्यास के समय जनप्रतिनिधियों द्वारा लोगों को गुणवत्ता के साथ ससमय सड़क निर्माण कार्य शुरु होने का वादा किया गया। लेकिन धरातल पर विधायक का वादा वादा ही बनकर रह गया। सड़क का मेंटेनेंस व रिपेयरिंग कार्य पर विधायक ने ध्यान ही नहीं दिया। आधे दर्जन से अधिक सड़कों पर कंस्ट्रक्शन कंपनी द्वारा कार्यस्थल पर निर्माण कार्य की आरंभ की तिथि व कार्य समाप्ति की अंकित तिथि का बोर्ड ग्रामीणों को मुंह चिढा रहा है। निर्माण कार्य नहीं होने से लोगों में काफी आक्रोश व्याप्त है। इसी प्रकार की समस्या प्रखंड के अधिकांश पंचायतों में है।मरम्तीकरण व निर्माण कार्य की समाप्ति तिथि के बाद भी सड़क का निर्माण कार्य शुरु नहीं होने से ग्रामीणों में रोष व्याप्त है। इस संबंध में कार्य एजेंसी के अधिकारी भी कार्य शुरू होने में हो रही विलंब का कारण स्पष्ट रूप से नहीं बता पा रहे हैं।

खबरें और भी हैं...