पुनर्जागरण यात्रा:मिथिला राज्य की मांग को ले निकली पुनर्जागरण यात्रा

समस्तीपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रेस वार्ता में मिथिला राज्य निर्माण सेना के सदस्य। - Dainik Bhaskar
प्रेस वार्ता में मिथिला राज्य निर्माण सेना के सदस्य।

मिथिला राज्य निर्माण सेना के महासचिव राजेश झा के नेतृत्व में मिथिला पुनर्जागरण रथ मंगलवार की देर शाम रोसड़ा पहुँचा । रोसड़ा पहुंचे रथ का लोगों ने स्वागत किया। बुधवार को पत्रकारों से बात करते हुए संगठन के महासचिव राजेश झा ने बताया कि यात्रा की शुरुआत श्यामा माई मंदिर से आरंभ होकर बिरौल पहुंची। यह बेनीपुर, बिरौल, सुपौल बाजार से सिंघिया, पीपरा होते हुए समस्तीपुर जिला के रोसड़ा तक पहुंची। राजेश ने कहा कि मिथिला राज्य आंदोलन की स्वीकार्यता बढ़ाने के लिए जनगणना में मैथिली अंकित कराना आवश्यक है। बिहारी सत्ता से लाभान्वित राजनीतिक दलों द्वारा षड्यंत्रपूर्वक मैथिली और मिथिला का अधिकार छीनने का प्रयास पिछले 70 वर्षों से जारी है। उन्होंने कहा कि बिहारी सत्ता के दमनकारी नीतियों के विरोध में यह मिथिला पुनर्जागरण यात्रा संपूर्ण मिथिला का भ्रमण करेगी।

इस यात्रा का आयोजन पांच चरणों में होगा। इसके प्रथम चरण में मधुबनी, दरभंगा, समस्तीपुर और बेगूसराय के विभिन्न क्षेत्रों से होकर यह यात्रा गुजरेगी। दूसरे चरण में कोसी और तीसरे चरण में पूर्णिया कमिश्नरी को सम्मिलित किया जाएगा । मिथिला राज्य आंदोलन में सभी जाति और धर्म के लोगों की सहभागिता है। इससे पूर्व निर्माण सेना के सेनानियों का स्वागत मुख्य पार्षद श्यामबाबू सिंह व कार्यक्रम के संयोजक अमर प्रताप सिंह ने किया। मौके पर निर्माण सेना के अनूप मैथिल, रचना झा, दीपक झा, जीवानंद झा, आनंद ठाकुर, विधानचंद्र राय, रोहिणी के अलावे रामबाबू सिंह, नीरज कुमार सिंह आदि मौजूद थे ।

खबरें और भी हैं...