पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

शहरी क्षेत्र में 41 नए सहित 184 पॉजिटिव मामले:सरकारी आंकड़ों में शहर में नहीं है एक भी कंटेनमेंट जोन

समस्तीपुर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
काशीपुर के एक गली में मौजूद कंटेनमेंट जोन से होकर गुजरती महिला। - Dainik Bhaskar
काशीपुर के एक गली में मौजूद कंटेनमेंट जोन से होकर गुजरती महिला।
  • कई जगहों पर लोगों ने हटा दिए बांस-बल्ले, आना-जाना करते हैं

वैश्विक महामारी को लेकर जहां पूरा विश्व परेशान है। राज्य सरकार ने लाॅकडाउन का निर्णय भी लिया है। इसके बावजूद जिला में इसको लेकर सरकारी स्तर पर लापरवाही ही देखने को मिल रही है। बताया जाता है कि समस्तीपुर शहरी क्षेत्र में 3 मई को 41 पॉजिटिव मरीज मिले। जिससे यहां पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 184 हो गई। इस लिहाज से यहां कंटेनमेंट जोन की भी जरूरत थी। मगर विभागीय आंकड़े बताते हैं कि शहर में वर्तमान में एक भी एक्टिव कंटेनमेंट जोन माैजूद नहीं है। रिपोर्ट के अनुसार समस्तीपुर शहरी क्षेत्र में 11 कंटेनमेंट जोन मौजूद थे।

जिन्हें डिनोटिफाई कर दिया गया है। यानि शहर के लगभग सभी वार्डों में कोरोना पॉजिटिव मौजूद है मगर वर्तमान में यहां एक भी कंटेनमेंट जोन मौजूद नहीं है। हालांकि नप ईओ की माने तो शहर में अभी कंटेनमेंट जोन मौजूद है। वहीं जब शहर में मौजूद कंटेनमेंट जोन की हकीकत देखेंगे तो वहां नियमों के विपरीत सब कुछ होता है। कई जगहों से लोगों ने स्वंय ही बांस-बल्ला हटा दिया है। वहीं जहां कहीं भी यह बचा हुआ है वहां से होकर लोग पूर्ववत आना-जाना करते हैं।

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच लापरवाही पड़ सकती है भारी

शहरी क्षेत्र में मौजूद है कंटेनमेंट जोन, हो रहा अनुपालन
^शहरी क्षेत्र में पॉजिटिव मरीज आने के बाद वहां कंटेनमेंट जोन बनाया गया है। जहां कही भी कंटेनमेंट जोन है वहां उसका अनुपालन कराया जा रहा है। लोगों को जोन से होकर आवाजाही करने का मना किया जा रहा है। सेनेटाइजेशन भी करा रहे हैं।
संजीव कुमार, ईओ, नगर परिषद।

कंटेनमेंट जोन की नहीं की जाती दोबारा निगरानी
जबकि प्रशासन की ओर से एक बार कंटेनमेंट जोन बनाने के बाद उसकी दोबारा निगरानी नहीं की जाती। बस कागजों पर 14 दिन बाद उसे समाप्त घोषित कर दिया जाता है। कंटेनमेंट जोन का कमोबेश ग्रामीण क्षेत्रों में भी यही हाल है। जहां बीडीओ, सीओ या थाना जोन बनने के बाद निगरानी को नहीं जाते। एक बार बांस व बैनर लगाने के बाद उसका काम कागजों पर ही होता है। यह बड़ी लापरवाही कोरोना बढ़ने का एक अहम कारण बन रही है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - कुछ समय से चल रही किसी दुविधा और बेचैनी से आज राहत मिलेगी। आध्यात्मिक और धार्मिक गतिविधियों में कुछ समय व्यतीत करना आपको पॉजिटिव बनाएगा। कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती है इसीलिए किसी भी फोन क...

    और पढ़ें