पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Muzaffarpur
  • Samastipur
  • To Deal With The Floods, The Height Of The New Railway Bridges To Be Built On The Samastipur Darbhanga Rail Section Will Be Increased By Three Meters From The Bridges Built Earlier: DRM

परेशानी:बाढ़ से निपटने के लिए समस्तीपुर-दरभंगा रेलखंड पर बनने वाले नए रेलवे पुलों की ऊंचाई पूर्व में बने पुलों से तीन मीटर बढ़ाई जाएगी : डीआरएम

समस्तीपुर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
हायाघाट के पुराने 16 नंबर इस पुल की भी ऊंचाई बढ़ेगी। - Dainik Bhaskar
हायाघाट के पुराने 16 नंबर इस पुल की भी ऊंचाई बढ़ेगी।
  • दोहरीकरण को लेकर छोटे-बड़े दर्जनभर रेलवे पुलों का चल रहा है निर्माण, हर साल बाढ़ के दौरान समस्तीपुर-दरभंगा रेलखंड पर बंद हो जाता है परिचालन, यात्रियों को परेशानी
  • हायाघाट के 16 व 17 नंबर पुराने रेलवे पुल के बदले बनने वाले नए पुल पर रहेगा विशेष फोकस

समस्तीपुर-दरभंगा रेलखंड पर बाढ़ से निपटने के लिए बूढीगंडक, बागमती समेत अन्य नदियों पर बनने वाले नये रेलवे पुलों की ऊंचाई पुराने रेलवे पुल से तीन मीटर बढ़ाई जाएगी, ताकि बाढ़ के दौरान ट्रेन यातायात पर कोई असर नहीं पड़े। पुराने रेलवे पुलों का नदी के तल से उंचाई कम होने के कारण बाढ़ के दौरान जलस्तर बढ़ने पर गाटर से पानी सट जाता है। इस कारण ट्रेन सेवा बंद करनी होती है। पुल की उंचाई बढ़ने से ट्रेनों के परिचालन पर असर नहीं पड़ेगा। यह बात सोमवार को डीआरएम आलोक अग्रवाल ने दैनिक भास्कर से बातचीत करते हुए कही।

उन्होंने कहा कि बाढ़ का इतिहास बताता है कि बूढ़ी गंडक व बागमती नदी का पानी प्रत्येक वर्ष बाढ़ के दिनों में रेलवे गाटर से सटता है। इससे एक-एक महीने तक ट्रेनों का परिचालन बंद रहता है। बाढ़ के पुराने इतिहास को देखते हुए बूढ़ी गंडक नदी पर बन रहे दूसरे रेलवे पुल की उंचाई पुराने पुल से तीन मीटर बढ़ाई जा रही है। इस पुल का निर्माण अंतिम चरण में है। वहीं हायाघाट- थलवारा के बीच बागमती नदी पर रेलवे पुल नंबर 16 व 17 के स्थान पर नया पुल बनाया जाना है। बनने वाले नये पुल की उंचाई पुराने पुल से तीन मीटर बढायी जाएगी।

माल कारोबार विकसित करने के लिए कारोबारियों से करेंगे बात
मक्का, मखाना व लाल मिर्च मंडल क्षेत्र से दूसरे प्रदेशों में बड़े पैमाने पर जा सके। इसके लिए इस कारोबार से जुड़े कारोबारी से बात की जाएगी। इसके लिए मालगोदामों को विकसित किया जा रहा है। मालगोदामों पर राउंड दी क्लॉक माल की बुकिंग हो इसको लेकर मालगोदामों पर लाइटिंग के साथ अन्य सुविधाओं को विकसित किया जा रहा है। ताकि कारोबारियों को माल की लोडिंग में परेशानी नहीं हो। मुक्तापुर, दरभंगा, महबल, बेतिया आदि स्टेशनों के मालगोदाम को बेहतर किया जा रहा है।

फ्लाई ओवर निर्माण की प्रगति को लेकर हो रही समीक्षा

डीआरएम अग्रवाल ने कहा कि शहर के भोला टॉकीज, मुक्तापुर रेलवे गुमटी समेत मंडल के 35 से अधिक रेलवे गुमटियों पर फ्लाई ओवर ब्रीज का निर्माण किया जाना है। कार्य राज्य पुल निगम देख रही है। हाल ही में कार्य की प्रगति को लेकर समीक्षा की गई। कुछ स्थानों पर दिक्कतें आयी उसका समाधान करा दिया गया है। पुलों का निर्माण जल्द से जल्द शुरू हो इसकों लेकर रणनीति बनाई जा रही है।

खबरें और भी हैं...