बस टिकट हुआ महंगा:ट्रांसपोर्ट फेडरेशन ने बढ़ाया भाड़ा, पटना के लिए आज से देना होगा 130 रुपए किराया

समस्तीपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बिहार राज्य पथ परिवहन निगम ने 122 रुपए किया था पटना का भाड़ा

बिहार राज्य पथ परिवहन निगम की ओर से बसों के किराए में बढ़ोतरी की गई है। इसके तहत पटना के लिए पूर्व के 100 रुपए किराया में 12 रुपए की बढा़ेतरी करते हुए उसे 122 रुपए किया है। सरकारी बसों का किराया 5 मार्च से लिया जा रहा है। इसी को देखते हुए दस दिन बाद रविवार को बिहार मोटर ट्रांसपोर्ट फेडरेशन की ओर से भी किराया बढ़ाने का निर्णय लिया गया। इसके तहत 15 मार्च सोमवार से पटना तक के भाड़ा में वर्तमान के 110 रुपए में 20 रुपए जोड़कर 130 रुपए किराया वसूल किया जाएगा। इसको लेकर फेडरेशन जिलाध्यक्ष मनोज कुमार सिंह ने बताया कि सरकारी भाड़ा की तर्ज पर हमारी ओर से बसों के किराए में 20 फीसदी की वृद्धि की जा रही है। उन्होंने बताया कि निजी बस मालिकों को स्टैंड व टॉल टैक्स का अतिरिक्त खर्च देना पड़ता है। यह खर्च सरकारी बसों को नहीं देना पड़ता। जबकि किराया बढ़ने से निजी बसों का परिचालन सुचारू रूप से चल सकेगा।

टॉल व बस पड़ाव का देना होता है 540 रुपए प्रति खेप चार्ज
बताया गया कि निजी बस चालकों को पटना जाने में टॉल व बस पड़ाव का प्रति खेप 540 रुपए चार्ज देना होता है। जिसमें 8 बस पड़ाव समस्तीपुर, मुसरीघरारी, ताजपुर, बहुआरा, बरडीहा, कुशहर, महुआ व हाजीपुर में हर बार 60-60 रुपए देना पड़ता है। जबकि टॉल पर प्रतिखेप 60 रुपए का टैक्स लिया जाता है।

एसी का देना होगा 20 रुपए अधिक किराया

बताया गया कि प्रत्येक रूट पर एसी बसों का भाड़ा सामान्य से 20 रुपए अधिक होगा। इसमें समस्तीपुर-पटना का भाड़ा 130 व एसी का 150 रुपए होगा। वहीं हाजीपुर का 120, महुआ का 100, मुसरीघरारी-पटना 120, हाजीपुर 110, ताजपुर से पटना 110, बहेरी-पटना 170, रोसड़ा-पटना 160 रुपए लिया जाएगा।

जिला के अंदर नहीं बढ़ाया गया है बसों का भाड़ा
वहीं जिला के अंदर परिचालित होने वाली बसों का भाड़ा नहीं बढ़ाया गया है। इसमें समस्तीपुर से रोसड़ा, पटोरी, मोहिउद्दीननगर विद्यापतिनगर, पूसा, कल्याणपुर व ताजपुर सहित अन्य जगहों का भाड़ा पूर्ववत रहेगा। पटना का भाड़ा 2018 के बाद से नहीं बढ़ा था।

भाड़ा बढ़ाने की जानकारी नहीं है, पता करेंगे
राज्य सरकार की ओर से बसों का भाड़ा बढ़ोतरी करने के बाद ट्रांसपोर्ट फेडरेशन की ओर से भाड़ा बढ़ाए जाने की जानकारी नहीं है। वहीं निजी बसों का भाड़ा सरकारी भाड़ा के अनुरूप कितना बढ़ना चाहिए इसकी पूरी जानकारी संबंधित विभाग से ली जाएगी।
- शशांक शुभंकर, डीएम

खबरें और भी हैं...