किसानों में मायूसी:पटोरी प्रखंड क्षेत्र की सैकड़ों एकड़ कृषि योग्य भूमि से नहीं निकल सका पानी, रबी फसल की खेती का संकट

समस्तीपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • रबी बुआई नहीं होने से पांच करोड़ रुपए से अधिक का नुकसान, पशु चारा पर भी संकट

दिसंबर के पहले हफ्ते बीत जाने के बाद भी प्रखंड क्षेत्र की सैकड़ों एकड़ कृषि योग्य भूमि मंे जलजमाव के कारण रबी फसलों की बुआई नहीं हो पाई है। अतिवृष्टि और बाढ़ के कारण धमौन, रुपौली चकसीमा, हसनपुर सूरत, गोरगामा, दरवा, जोडपुरा, शाहपुर उण्डी,चकसलेम आदि चौर की सैकड़ों एकड़ खेती योग्य भूमि मे अभी भी पानी जमा हुआ है । कई वर्षों से बाढ़ और अतिवृष्टि के कारण इस क्षेत्र की खेतों में जलजमाव होता आया है लेकिन समय रहते पानी निकल भी जाता था। जिससे किसान रबी फसलों की बुआई कर लेते थे।

लेकिन इस वर्ष इन खेतों की बुआई नहीं हो पाएगा । वहीं किसानों को लगभग 5 करोड़ से अधिक के नुकसान का अनुमान है। क्षेत्र के किसान प्रति एकड़ 20 से 22 क्विंटल गेहूं की फसल की उपज कर लेते थे। खेती ही जीविका का एकमात्र स्रोत है। अगर एक हजार एकड़ भूमि की उपज का हिसाब लगाया जाए तो दो हजार रुपए प्रति क्विंटल एमएसपी की दर से बीस हजार क्विंटल गेहूं की कीमत चार करोड़ रुपए होती है। इसके अलावा कई अन्य फसलों को जोड़ दिया जाए तो कुल मिलाकर पांच करोड़ रुपए से अधिक का नुकसान क्षेत्र के किसानों को उठाना पड़ा है। साथ ही उन्हें भुखमरी का भय भी सताने लगा है।

जल निकासी की नहीं है व्यवस्था, प्रकृति ही सहारा
क्षेत्र की हजारों एकड़ खेती योग्य भूमि जो कि जलमग्न है, से जल निकासी की कोई समुचित व्यवस्था नहीं है। प्रकृति ही एकमात्र सहारा है। किसान अब गर्मी आने का इंतजार कर रहे हैं कि सूर्य देव की गर्मी से पानी सूख जाए। लेकिन जिस तरह भारी मात्रा में खेतों में जलजमाव है, अगले 2 वर्षों तक इस समस्या से निजात मिलना मुमकिन प्रतीत नहीं होता है। स्थानीय प्रशासन द्वारा इस समस्या के समाधान के लिए कोई पहल नहीं की जा रही है। हालांकि जल निकासी को लेकर किसानों ने स्थानीय प्रशासन से मदद की गुहार लगाया था।

रामभद्रपुर के कोयलाम गांव जाने वाली खरंजा सड़क हुई जर्जर

रामभद्रपुर पंचायत के कोयलाम गांव जाने वाली खड़ंजा सड़क जगह-जगह गड्ढे में तब्दील होने से राहगीर हिचकोले खाने को विवश हैं। वहीं मलिकाना गांव से कोयलाम गांव होते हुए दरभंगा जिला के हायाघाट प्रखंड के रसलपुर चौक जाने वाली खड़ंजा सड़क गुलाब चक्रवात तूफान के कारण सड़क पर पानी की जलजमाव से गांव में ट्रैक्टर एवं चार चक्का वाहन के चलने से जगह-जगह खड़ंजा सड़क के धंस जाने से स्थानीय लोगों एवं राहगीरों को चलने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। स्थानीय ग्रामीण ने बताया कि कई गांव होते हुए रामभद्रपुर स्टेशन तक जाने वाली खरंजा सड़क विगत बारिश से पूर्व से ही खड़ंजा की हालत खराब है।

खबरें और भी हैं...