पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

नप के छह वार्ड में नल जल योजना अधूरी:गर्मी शुरू हाेते ही जल संकट गहराया, पीएचईडी की है जिम्मेदारी, एक-दूसरे पर मढ़ रहे आरोप

दलसिंहसराय7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

नगर परिषद क्षेत्र के कई वार्ड ऐसे भी हैं जहां अभी तक नल जल योजना का कार्य आधा अधूरा पड़ा हुआ लोगों का मुंह चिढ़ा रहा है। दैनिक भास्कर ने इस भीषण गर्मी में जब इस योजना का पड़ताल किया तो कई वार्ड ऐसे मिले जहां पानी की सप्लाई शुरू है।

वहीं वार्ड के कुछ ऐसे गली-मोहल्ले मिले जहां अभी तक पाइप भी नही बिछाया जा सका है। वहीं कुछ वार्ड के मोहल्ले में पाइप लाइन का कार्य शुरू होकर आधा अधूरा पड़ा हुआ है। वार्ड संख्या 1, 3, 4, 5, 7, 11, 13 व 14 में हर घर नल का जल योजना का कार्य नप द्वारा कराया गया है। जहां वार्ड एक व तेरह में जलापूर्ति बाधित है। वहीं वार्ड संख्या 2, 6, 8, 9, 10 व 12 में नल जल योजना का कार्य पीएचईडी के जिम्मे हैं।

महात्मा गांधी पथ की स्थिति खराब

वहीं कुछ गली मोहल्ले में अभी तक कार्य आधा अधूरा पड़ा हुआ है। वार्ड संख्या 9 स्थित महात्मा गांधी पथ में स्थिति सबसे खराब है। जहां बीते एक महीने से ठेकेदार द्वारा पाइप लाइन के लिए गड्ढा खोदते हुए कुछ घरों में पाइप निकाल दिया है। वहीं कुछ घरों में तो अभी तक कनेक्शन भी नही दिया जा सका है। वहीं जगह-जगह गड्ढा खोद कर मिट्टी सड़क किनारे ही छोड़ दिया है।

जलस्तर भी गिरने लगा
इधर बीते कुछ दिनों से पड़ रही भीषण गर्मी से जहां एक ओर पानी का लेयर घटने से चापाकल सूखने की स्थिति में पहुंच चुके हैं। तो दूसरी ओर इस भीषण गर्मी में पानी के लिए आम आवाम सहित पशु पक्षी हलकान हो रहे हैं। इस संबंध में पीएचईडी के कार्यपालक अभियंता राजेश झा ने कहा कि बुधवार को विश्वकर्मा मंदिर से लेकर पुल तक रिसोर्सिंग का कार्य कराया गया है। एक सप्ताह में जलापूर्ति शुरू कर दी जाएगी। वहीं नप के ईओ राकेश कुमार रंजन ने बताया कि इनके कार्य से असंतोष व्यक्त करते हुए संयुक्त पर्यवेक्षण के लिए कार्यपालक अभियंता पीएचडी को बार-बार नप की ओर से पत्र दिया गया है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आपका संतुलित तथा सकारात्मक व्यवहार आपको किसी भी शुभ-अशुभ स्थिति में उचित सामंजस्य बनाकर रखने में मदद करेगा। स्थान परिवर्तन संबंधी योजनाओं को मूर्तरूप देने के लिए समय अनुकूल है। नेगेटिव - इस...

    और पढ़ें