पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

खतरे से 1.52 मीटर रह गया पानी:बूढ़ी गंडक नदी का घटा जलस्तर, एक सप्ताह में एक मीटर नीचे उतरा पानी

समस्तीपुर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मगरदही में जलस्तर घटने के बाद दिखता रेल ब्रिज का पाया। - Dainik Bhaskar
मगरदही में जलस्तर घटने के बाद दिखता रेल ब्रिज का पाया।
  • वर्तमान में खतरे के निशान 45.73 मीटर से बढ़कर 47.25 मीटर है जलस्तर, शहर पर फिलहाल नहीं है खतरा

बूढ़ी गंडक नदी का जलस्तर लगातार घट रहा है। यह समस्तीपुर के साथ ही रोसड़ा में भी काफी घटा है। एक सप्ताह में नदी का जलस्तर लगभग एक मीटर तक नीचे उतर गया है। मगरदही स्थित रेल पुल का पाया दिखने लगा है। वहीं जलस्तर रेलवे गर्डर से नीचे उतर आया है। जिससे रेल पुल से ट्रेनों का परिचालन भी शुरू कर दिया गया है। वर्तमान में बूढ़ी गंडक नदी का जलस्तर समस्तीपुर खतरे के निशान 45.73 से 1.52 मीटर उपर 47.25 मीटर पर है। वहीं रोसड़ा में यह खतरे के निशान 42.63 मीटर से 2.46 मीटर उपर 45.09 पर है। दोनों ही जगह नदी के जलस्तर की प्रवृति घटने की बनी हुई है। जिसके कारण समस्तीपुर में बीसफुटिया व नदी की पेटी में रहने वाले लोगों ने राहत की सांस ली है। बताया जाता है कि नदी का जलस्तर घटने से शहर में बाढ़ का मंडरा रहा खतरा भी फिलहाल टल गया है। वहीं स्लुईस गेट के पास बन रहा दबाव भी समाप्त हो गया है।

गंगा के जलस्तर में आई गिरावट, रुका बागमती नदी का बढ़ना

बताया जाता है कि गंगा नदी के जलस्तर में दोबारा वृद्धि शुरू होने के बाद अब उसकी प्रवृति गिरने की हो गई है। गंगा नदी खतरे के निशान 45.50 मीटर से 1.38 मीटर नीचे 44.12 पर है। वहीं बागमती नदी का जलस्तर खतरे से 53 सेंटीमीटर नीचे रूका है।

^बूढ़ी गंडक नदी के जलस्तर में अभी और गिरावट आएगी। यह जल्द ही खतरे के निशान के नीचे आ जाएगा। नदी के उपरी क्षेत्र में बारिश नहीं होने से यह लगातार घट रही है। -अरुण प्रसाद, ईई, बाढ़ नियंत्रण, समस्तीपुर प्रमंडल।
इधर, वारिसनगर में 34.2 और समस्तीपुर में हुई 28.2 एमएम बारिश

मानसूनी प्रभाव से बुधवार को जिला में 7.4 एमएम बारिश रिकार्ड की गई। इस दौरान सबसे ज्यादा 34.2 एमएम बारिश वारिसनगर में हुई। जबकि समस्तीपुर में 28.2 एमएम बारिश हुई। वहीं हसनपुर में 19.2, खानपुर 16, कल्याणपुर 10.6, शिवाजीनगर 8.6 व पूसा में 7.4 एमएम बारिश रिकार्ड की गई। भारत मौसम विज्ञान विभाग की ओर से जारी पूर्वानुमान के अनुसार गुरुवार को भी जिला में मध्यम बारिश होने की संभावना है। बताया गया कि उसके बाद से जिला में जहां भारी बारिश की संभावना नहीं है वहीं बारिश की होने की संभावना भी कम रह जाएगी।

खबरें और भी हैं...