पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बाढ़ का कहर:24 घंटे में 30 सेमी कम हुआ बूढ़ी गंडक नदी का पानी, 48.30 मीटर पर पहुंचा है जलस्तर

समस्तीपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • खतरे के निशान 45.73 से अब भी 2.57 मीटर ऊपर है पानी, कटावरोधी कार्य की तैयारी जोरों पर

बूढ़ी गंडक नदी का जलस्तर अब घटने लगा है। सोमवार को 5 सेंटीमीटर की गिरावट के बाद पिछले 24 घंटे में जलस्तर में 30 सेंटीमीटर तक की गिरावट दर्ज की गई है। वहीं नदी के घटने की प्रवृति को अब जारी रहना बताया जा रहा है। बीते दो दिनों में नदी का जलस्तर 48.65 से घटकर 48.30 हो गया है। हालांकि अभी भी यह जलस्तर नदी के खतरे के निशान 45.73 से 2.57 मीटर उपर है। जिससे खतरे को टाला हुआ नहीं माना जा सकता।

बावजूद इसके नदी के घटने की प्रवृति धारण करने के बाद से प्रशासन, बांध किनारे व पेटी में रहने वाले लोगों ने भी राहत की सांस ली है। बताया जाता है कि नदी का जलस्तर इसी प्रकार घटता रहा तो दस दिनों में यह खतरे के निशान के बराबर आ जाएगा। जिसके बाद बांध पर मौजूद लोगों के घरों से पानी निकल जाएगा। दूसरी ओर जलस्तर घटने पर बूढ़ी गंडक के कटाव की प्रवृति शुरू होने की संभावना है। जिसकी चिंता प्रशासन व तटबंध पर बसे लोगों को भी सता रही है।

बूढ़ी गंडक नदी का जलस्तर 30 सेंटीमीटर घटकर 48.30 मीटर आ गया है। हालांकि यह अभी भी खतरे के निशान से 2.5 मीटर से ज्यादा उपर है। बावजूद अब इसके घटने की लगातार प्रवृति जारी है। वहीं कटाव की संभावना को लेकर तैयारी की जा रही है।
जय प्रकाश, ईई, फल्ड कंट्रोल, समस्तीपुर

21 सामुदायिक किचन के बावजूद महिलाओं को नहीं मिल पाता भोजन

बाढ़ पीड़ितों के लिए नाम का तो 21 सामुदायिक किचन है परंतु किसी में महिलाओं को सही से भोजन नहीं मिल पा रहा है। वहीं अगर महिला जब समूहमें खाना खाने जाती है तो कुछ शरारती तत्व उनका मजाक उड़ाते हैं। जिससे विवश होकर कितनी महिलाएं खाने को नहीं जाती। भाजपा ओबीसी मोर्चा के प्रदेश मंत्री विक्रांत कुमार ने कहा कि प्रशासन से सभी किचेन पर महिलाओं के लिए खाना परोसने वाली महिला की व्यवस्था करने की बात कही जाएगी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि वालों से अनुरोध है कि आज बाहरी गतिविधियों को स्थगित करके घर पर ही अपनी वित्तीय योजनाओं संबंधी कार्यों पर ध्यान केंद्रित रखें। आपके कार्य संपन्न होंगे। घर में भी एक खुशनुमा माहौल बना ...

और पढ़ें