पंचायत चुनाव का अंतिम चरण:रुन्नीसैदपुर की 33 पंचायतों में से 23 नए चेहरे, 9 मुखिया ही बचा सके अपनी कुर्सी

सीतामढ़ीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मतगणना केंद्र पर अपनी बारी के इंतजार में बैठ धूप सेंकती रहीं महिला प्रत्याशी। - Dainik Bhaskar
मतगणना केंद्र पर अपनी बारी के इंतजार में बैठ धूप सेंकती रहीं महिला प्रत्याशी।
  • गंगवारा बुजुर्ग पंचायत का परिणाम घोषित नहीं हुआ

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के अंतिम 11वें चरण में जिले के रुन्नीसैदपुर प्रखंड की विभिन्न पंचायतों में हुए चुनाव की मतगणना मंगलवार को कड़ी सुरक्षा के बीच हुई। वोटों की गिनती देर शाम तक होती रही। रुन्नीसैदपुर में आए मुखिया के चुनाव परिणाम में मतदाताओं ने नए चेहरे को गांव की सरकार बनाने का मौका दिया है। प्रखंड की 33 पंचायतों में से घोषित 32 पंचायतों में मात्र 9 मुखिया ने अपनी कुर्सी बचाने में सफलता प्राप्त की है। जबकि 23 पंचायतों में नए चेहरों को मौका दिया गया है। गंगवारा बुजुर्ग पंचायत की बूथ संख्या 213 की ईवीएम नहीं खुलने व आई तकनीकी खराबी के कारण मुखिया का परिणाम घोषित नहीं किया गया। उक्त बूथ पर बुधवार को फिर से मतदान होगा। मतदान के बाद मतगणना की गिनती के साथ ही इस पंचायत के मुखिया पद के परिणाम की घोषणा की जाएगी। 11वें चरण के मतों की गिनती का कार्य मंगलवार की सुबह 8 बजे से शुरू हो गया था। जिले का सबसे बड़ा प्रखंड होने के कारण अधिकारियों की चिंता अधिक बढ़ी हुई थी।

इन नौ मुखिया ने बचाई अपनी कुर्सी
रुन्नीसैदपुर प्रखंड के 33 पंचायत में घोषित 32 पंचायत के मुखिया सीट पर निवर्तमान नौ मुखिया ने अपनी कुर्सी बचाने में सफलता हासिल की है। इसमें कौड़िया लालपुर पंचायत से अवधेश साह, बगाही रामनगर से रेणू देवी, रैनविशुनी पंचायत से किरण देवी, मोरसंड पंचायत से कामिनी सिंह, रुन्नीसैदपुर उतरी से सगेयान देवी ओलीपुर सरहचिया से प्रमोद आनंद, बरहेता पंचायत से प्रमिला देवी, महिंदवारा पंचायत से पूनम देवी एवं बलुआ पंचायत से नवीन कुमार शामिल है।

पूर्व जिला परिषद अध्यक्ष को मिली हार, चार सीटों में दो जिला पार्षद ने बचाई कुर्सी

जिला परिषद की कुल चार सीटों की हुई परिणामों की घोषणा में दो जिला पार्षद ने अपनी कुर्सी बचाने में सफलता हासिल की है। इसमें जिला परिषद क्षेत्र संख्या 12 से मुनीता देवी व क्षेत्र संख्या 11 से रूबी कुमारी शामिल हैं। रूबी कुमारी ने अपने निकटम प्रतिद्वंदी सिन्धु देवी को 1526 वोटों से हराया। रूबी कुमारी को कुल 6234 मत मिले, जबकि सिन्धु देवी को 4708 वोटों से ही संतोष करना पड़ा। वहीं क्षेत्र संख्या 12 से मुनिता देवी ने पिंकी कुमारी को 1380 वोटों से हराया। मुनिता को 7068 व पिंकी को 5688 वोट मिले। जबकि क्षेत्र संख्या 10 से पूर्व जिला परिषद अध्यक्ष इन्द्रराणी राय को हार का सामना करना पड़ा। इन्द्रराणी राय को 5966 वोट मिले। जबकि संझा देवी ने 7083 मत प्राप्त कर विजयी हुई।

खबरें और भी हैं...