पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सराहनीय:ओलीपुर में खुलेगा 100 बेड वाला 5 मंजिला अस्पताल : नरेंद्र

सीतामढ़ी11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
हिंदराज संस्था के संस्थाापक नरेंद्र कुमार। - Dainik Bhaskar
हिंदराज संस्था के संस्थाापक नरेंद्र कुमार।
  • हिंदराईज संस्था के संस्थापक ने उठाया जिम्मा, गरीबों को आधुनिक उपचार की सुविधा मिलेगी

गरीबों को सस्ती स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने को लेकर रुन्नीसैदुपर में ओलीपुर सरचिया में आधुनिक सुविधा से लैस 100 बेड वाला पांच मंजिला अस्पताल खोला जाएगा। इसके लिए निर्माण कार्य शुरू कर दिया गया है। हिंदराईज संस्था के संस्थापक नरेंद्र कुमार ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि हर जीवन मायने रखता है।

अस्पताल खोलने के पीछे यह प्रतिबद्धता सुनिश्चित करना है कि सीतामढ़ी में सभी लोगो को आधुनिक उपचार की सुविधा मिले। कोई भी इलाज तथा दवा के बिना नहीं मरेगा। कोरोना संक्रमण के दूसरी लहर के दौरान उत्तर बिहार के अस्पताल में बिस्तर या ऑक्सीजन सिलेंडर के अभाव में कई लोगों को जान गंवानी पड़ी है। इसके लिए भूमि का अधिग्रहण किया जा चुका है। साथ ही अस्पताल का निर्माण कार्य भी शुरू कर दिया गया है। यहां बच्चों की देखभाल, स्त्री रोग विशेषज्ञ व ट्रामा जैसे विशेष विभागों के साथ 5 मंजिला भवन होगा। जहां 100 बेड की व्यवस्था होगी। उच्च गुणवत्ता वाली चिकित्सा सेवाएं प्रदान करने पर ध्यान केंद्रित होगा। रून्नीसैदपुर जिले का सबसे बड़ा प्रखंड है। कहा कि “हम स्वास्थ्य सेवा को मानवता की अभिव्यक्ति के रूप में देखते हैं- हमारे लिए, हर जीवन मायने रखता है’।

हम सब कुछ सरकार पर नहीं छोड़ सकते

उन्होंने कहा कि इस दिशा में केवल सरकार को ही नहीं बल्कि आम जनता को भी ध्यान देने की आवश्यकता है। हर 10 किलोमीटर में एक अस्पताल का निर्माण करें। बिहार के सक्षम पेशेवर जो बिहार मूल के हैं, उन्हें बिहार में कम फीस वाला अस्पताल बनाना चाहिए। बिहार को मजबूत करने का यही एकमात्र तरीका है। सब कुछ सरकार पर नहीं छोड़ सकते। सरकार को स्वास्थ्य की समीक्षा करनी चाहिए। अस्पतालों के इंफ्रास्ट्रक्चर को बेहतर करनी चाहिए।

निजी अस्पताल के शुल्क पर हाे नियंत्रण

हिंदराईज संस्था के संस्थापक नरेंद्र कुमार ने कहा कि बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था बेहद ही संदिग्ध है। सरकार को जीडीपी का कम से कम 10% खर्च करना चाहिए। क्योंकि वर्तमान में यह जीडीपी का केवल 2.5% है। बिहार में स्वास्थ्य प्रणाली में बड़े सुधारों की आवश्यकता है, बेहतर बजट की आवश्यकता है। निजी अस्पताल द्वारा वसूले जाने वाले शुल्क पर मूल्य नियंत्रण की आवश्यकता है। हिन्दराइज ने जिले के 5,000 से अधिक लोगों का उपचार सह बचाव के लिए दवा किट वितरित किए। ओलीपुर में खोले जाने वाले हिंदराइज अस्पताल समाज के निम्न-आय वर्ग के लिए एक आधुनिक और गैर-लाभकारी व कम लागत वाला अस्पताल होगा।

खबरें और भी हैं...