अच्छी पहल:चुलाई शराब के अड्‌डों पर चलाया जाएगा जागरुकता अभियान, शुरू की गई तैयारी

सीतामढ़ी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नुक्कड़-नाटक प्रस्तुत करते कलाकार। - Dainik Bhaskar
नुक्कड़-नाटक प्रस्तुत करते कलाकार।
  • कला जत्था की टीम और साक्षरताकर्मियों को दी गई है पूरी जिम्मेवारी

शराबबंदी को पूर्णत: लागू कराने को लेकर अब जिले के चुलाई शराब के अड्‌डों पर जागरुकता अभियान शुरू किया जाएगा। इसकी तैयारियां शुरू कर दी गई है। प्रथम चरण में जिला प्रशासन द्वारा चयनित जिले के 19 चुलाई शराब के अड्‌डों पर नुक्कड़ नाटक के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जाएगा। इसके लिए साक्षरताकर्मियों एवं कला जत्था की टीम की प्रतिनियुक्ति की जा रही है। इस अभियान के तहत मुख्यालय डुमरा स्थित साक्षरता कार्यालय परिसर में कला जत्था की टीम द्वारा नुक्कड़ नाटक का अभ्यास किया गया। इस दौरान लोगों को नशापान करने से होनेवाले दुष्परिणाम के बारे में जानकारी दी गई। अब यह कला जत्था की टीम चुलाई शराब के विभिन्न अड्डों पर जाकर नुक्कड़ नाटक के माध्यम से लोगों को जागरूक करेगी।
जिले के 19 चुलाई शराब के अड्डाें को किया गया है चिह्नित
सीतामढ़ी जिले के विभिन्न कुल 19 चुलाई शराब के अड्डाें को चिह्नित किया गया है। इसमें डुमरा थाना के बनचौड़ी, केथरिया मंडल टोला व बेरवास को चिन्हित किया गया है। इसी प्रकार बाजपट्‌टी थाना के बनगांव व रसलपुर मुशहरी टोली, रुन्नीसैदपुर थाना के बलिगढ़ धांगर टोला व मानिकचौक, बथनाहा थाना के दिग्घी मुशहर टोला, हरपुर भलहा, रुपौली रूपहरा व गोढ़िया, मेजरगंज थाना के चकरघट्‌टा, पुपरी थाना के बेलहट, बैरगनिया थाना के पताही घांगर टोला, रीगा थाना के रामनगर बिरता व रेवासी, परिहार थाना के बबरवनी, बेलसंड थाना के कोठी चौक मांझी टोला व बेला थाना के नरंगा पासवान टोला को शामिल किया गया है।

स्कूल के बच्चे आसपास के लोगों को नशा से दूर रहने को कहेंगे
जिला शिक्षा पदाधिकारी सचिंद्र कुमार ने कहा है कि नशापान के खिलाफ अभियान युद्धस्तर पर जारी है। इस अभियान के तहत सरकारी भवनों पर नारा लेखन का काम किया जा रहा है। लोगों को जागरूक करने के लिए स्कूलों में प्रार्थना सभा के दौरान बच्चों नशापान से होनेवाले दुष्परिणाम के बारे में जानकारी दी जा रही है। कहा कि हर बच्चे जागरूकता दूत होंगे। इस लिए स्कूल के बच्चों को नशापान से होनेवाले दुष्परिणाम के बारे में जानकारी दी जा रही है। जो अपने आस पड़ोस के लोगों को नशापान नहीं करने संकल्प दिलाएंगे।

नशापान के खिलाफ जागरुकता अभियान जरूरी है : डीपीओ
नशपान के खिलाफ संचालित किए जा रहे जागरूकता अभियान के तहत कला जत्था की टीम व साक्षरताकर्मियों को विशेष जिम्मेवारी सौंपी गई है। जिला कार्यक्रम पदाधिकारी साक्षरता डॉ. अमरेंद्र पाठक ने इस अभियान को सफल बनाने के लिए कला जत्था की टीम व साक्षरताकर्मियों काे निर्देश दिया है। कहा है कि नशापान के खिलाफ जन आंदोलन की आवश्यकता है। यह तभी संभव है जब यहां के शत प्रतिशत लोग जागरूक होंगे। नशापान से होनेवाले दुष्परिणाम के बार में लोगाें को बताना है।

कला जत्था की टीम की तैयारी पूरी किया पूर्वाभ्यास

चलाई शराब के अड्‌डों कला जत्था की टीम द्वारा नुक्कड़ सभा का आयोजन कर लोगों को जागरूक किया जाएगा। इसे लेकर साक्षरता कार्यालय परिसर में कला जत्था की टीम द्वारा नुक्कड़ नाटक की प्रस्तुति की गई। इसमें दिखाया गया कि विवाह के बाद ससुराल पहुंची नवविवाहिता द्वारा किस तरह नशापान के खिलाफ अपनी आवाज बुलंद करती है। नशापान के विरोध में आवाज उठाने परबहू को प्रताड़ना भी सहना पड़ता है। लेकिन जब शराब का धंधा करने व नशापान के बुरे परिणाम आते है तो इसे देख फिर ससुराल के लोग बहू को सम्मान देकर परिवार की जिम्मेवारी सौंपते है।

खबरें और भी हैं...