चुनावी रंजिश में मुखिया के भाई की हत्या:सीतामढ़ी में धारदार हथियार से अपराधियों ने ले ली जान, लोगों ने पुलिस के खिलाफ किया बवाल

सीतामढ़ी5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस के सामने प्रदर्शन करते लोग। - Dainik Bhaskar
पुलिस के सामने प्रदर्शन करते लोग।

सीतामढ़ी जिले के पुपरी थाना क्षेत्र अंतर्गत आवापुर गांव में पूर्व विवाद और चुनावी रंजिश को लेकर वर्तमान मुखिया के भाई की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई है। मिली जानकारी के अनुसार शनिवार को कुछ लोगों के द्वारा आवापुर दक्षिणी पंचायत के मुखिया जकाउल्लाह उर्फ जाति के भाई मो नसरुल्लाह को शाम को बीच सड़क पर लोहे का रॉड और धारदार हथियार से हमला कर बुरी तरह से जख्मी कर दिया गया।

जख्मी हालात में स्थानीय लोगों ने पीएचसी में भर्ती कराया जहां चिकित्सकों द्वारा उसे मृत घोषित कर दिया गया। ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार मृतक मदरसा का शिक्षक है। मुखिया के भाई कि हत्या की सूचना मिलने के बाद गांव में सनसनी फैल गई। हालात यह हो गया कि लोगों ने शौक के साथ थाना के सामने सड़क जाम कर प्रदर्शन कर रहे हैं। आक्रोशित ग्रामीणों की मांग है कि हत्यारों को पुलिस जल्द गिरफ्तार करें।

सड़क जाम के दौरान ग्रामीणों ने पुलिस प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लगा रहे हैं। परिजनों ने कहा कि पुपरी पुलिस के द्वारा पूर्व विवाद में कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया था। जिसके वजह से हत्यारों का मनोबल और भी बढ़ गया। जिसका परिणाम यह निकला कि बीच सड़क पर सरेआम हत्यारों ने मार मार कर मौत के घाट उतार दिया। स्थानीय थाना पुलिस मामले को सताने में नाकामयाब साबित हो रही है जिसके बाद अपनी बलिए अधिकारी को सूचना दिया है।

सूचना पर वरीय अधिकारी डीएसपी हेडक्वार्टर राम कृष्णा और राजीव कुमार रंजन समेत अन्य चार थाना के पुलिस बल के साथ घटनास्थल पर पहुंचकर मामले को शांत करने में जुटे हुए हैं। खबर लिखे जाने तक सड़क जाम है और अधिकारी मामले को शांत कराने में जुटे हुए हैं। बता दे कि पूर्व में उक्त मुखिया को दिल्ली में वोट मांगने के दौरान जमकर पिटाई की गई थी। तब से इनके परिवार का मसला शांत नहीं हो रहा था। मुखिया का मामला थाने में दर्ज है।