पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सामाजिक कार्यकर्ता:दिलीप कुमार की मौत से जिले में शोक सामाजिक कार्यकर्ताओं ने दी श्रद्धांजलि

सीतामढ़ी16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

दिग्गज फिल्म अभिनेता दिलीप कुमार का लंबी बीमारी के बाद बुधवार को मुंबई के एक निजी अस्पताल में निधन हो गया है। वे 98 वर्ष के थे। बॉलीवुड में ट्रेजेडी किंग के नाम से मशहूर दिलीप कुमार की मौत की खबर से सीतामढ़ी में भी उनके प्रशंसकों के बीच शोक की लहर है। सीतामढ़ी संघर्ष समिति की ओर से मेहसौल चौक स्थित यासीन मंज़िल में दिवंगत अभिनेता दिलीप कुमार की याद में शोकसभा का आयोजन किया गया।

इसमें दो मिनट का मौन रखकर उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि दी गई। सीतामढ़ी संघर्ष समिति के अध्यक्ष सह युवा कांग्रेस नेता मो. शम्स शाहनवाज ने अभिनेता दिलीप कुमार उर्फ मोहम्मद यूसुफ खान के निधन पर गहरा दुःख व्यक्त करते हुए कहा कि दिलीप साहब के निधन से फ़िल्म जगत के एक युग का अंत हो गया है। हिंदी सिनेमा का इतिहास जब कभी लिखा जएगा, यह दौर हमेशा दिलीप कुमार के इर्द-गिर्द होगा। अल्लाह उनकी मगफिरत फरमाए और जन्नतुल फिरदौस में उन्हें जगह दे। शोकसभा में राम बाबू, ब्रजेश कुमार, मोहम्मद मोदस्सिर अली, मो. मोख्तार, मो. वारिस, मो. कफील, मो. जफीर, अब्दुल्लाह जूही, बाबू नंदन राय आदि मुख्य रूप से मौजूद थे। शोक सभा आयोजित| समाजसेवी श्रीनिवास के नेतृत्व में शोक सभा का अायोजन किया गया। इस दौरान उपस्थित लोगों ने उन्हें नमन करते हुए शोक व्यक्त किया। डॉ. रामा शंकर प्रसाद, डॉ. शशि रंजन मुकुल, सुशील कश्यप, डॉ. प्रसन्न कुमार, गौतम कश्यप, अनिल कुमार सिंह, संत कौशलेंद्र मोरसंडी आदि ने शोक व्यक्त किया।

राज्य सभा सदस्य के रूप में भी किया था काम| दूसरी ओर, वरिष्ठ सामाजिक कार्यकर्ता रमेश कुमार ने फ़िल्म अभिनेता दिलीप कुमार के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए कहा कि उनके निधन से फिल्मों में एक युग का अंत हो गया है। दिलीप कुमार ने एक एक्टर के अलावा राज्य सभा के सदस्य के रूप में भी काम किये थे। उनके निधन से देश ने एक रत्न को खो दिया है।

खबरें और भी हैं...