पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मामला:नवजात की मौत पर परिजनों का हंगामा, डॉक्टर पर लगाया लापरवाही का आरोप

सीतामढ़ी20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
नवजात की मौत के बाद सदमे में परिजन। - Dainik Bhaskar
नवजात की मौत के बाद सदमे में परिजन।
  • मातृ शिशु (पुराना सदर) अस्पताल का मामला ; डॉक्टर ने बिना जांच किए ही मां काे पैरासिटामोल दवा दिलवा दी, बच्चे को दूध पिलाया और कुछ देर बाद ही उसकी मौत हो गई

नगर के मातृ शिशु (पुराना सदर) अस्पताल में सोमवार की अहले सुबह एक नवजात की मौत जन्म के कुछ ही देर बाद हो गई है। बच्चे की मौत पर परिजनों ने डॉक्टर पर इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। इस दौरान हंगामा कर रहे परिजनाें ने बताया कि प्रखंड क्षेत्र के माधोपुर अनंत गांव के वार्ड नंबर 4 निवासी रूपक कुमार की पत्नी नेहा कुमारी उर्फ पूजा ने सोमवार की अहले सुबह एक बच्चे को जन्म दिया। मां को बुखार रहने के कारण चिकित्सक के द्वारा बिना जांच किए ही पैरासिटामोल की दवा खिला दी गई। मां ने बच्चे को दूध पिलाया और कुछ देर बाद ही बच्चे की मौत हो गई।

परिजनों ने डॉक्टर पर लगाया सोए रहने का आरोप

परिजनों ने आरोप लगाया कि वे लोग ड्यूटी पर कार्यरत डॉ. हरेंद्र प्रसाद को जगाते रहे, पर वो नहीं उठे। इसी बीच महिला ने एक स्वस्थ करीब 3 किग्रा. के बच्चे का अहले सुबह 4:29 बजे जन्म दिया। इसकी जानकारी परिजनाें ने डाॅक्टर को दी। वहीं महिला का शरीर गर्म रहने के कारण बुखार होने की शिकायत डॉक्टर से की गई। डाॅक्टर ने सोए अवस्था में ही आशा को पैरासिटामोल देने को कहा। दवा खाने के कुछ देर बाद बच्चे ने दूध पीया। इसके कुछ देर के बाद ही उसकी माैत हो गई। इसके बाद परिजनों ने पुराना सदर अस्पताल में हंगामा किया। परिजनों ने आरोप लगाया कि बिना जांच के ही दवा देने के कारण नवजात की जान चली गई है। आक्रोशित परिजन बच्चे का शव अस्पताल से नहीं ले जाने पर अड़े थे। बाद में परिजनों को समझा-बुझाकर शांत किया गया।

साेया नहीं था, थाेड़ी आंख लग गई थी

उधर, चिकित्सक डॉ. हरेंद्र प्रसाद ने बताया कि अगर बुखार में यह दवा सही नहीं होगा, तब हम दोषी हैं। ड्यूटी के समय सोने पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए बताया कि थोड़ी आंख लग गई थी। सोया नहीं था। जानकारी मिलने पर जाकर चेक किया था।

मामले की जांच कराई जाएगी: सीएस

इस बीच सिविल सर्जन डॉ. आरपी सिंह ने बताया कि मामले की जांच की जाएगी। दोषी पाए जाने पर चिकित्सक पर कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...