पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

जागरूकता कार्यक्रम:शिशु के जन्म लेने के 48 घंटे तक मां का ही दूध पिलाने से बच्चों का होता है विकास

सीतामढ़ी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में विश्व स्तनपान सप्ताह पर आंगनबाड़ी केंद्राें पर कार्यक्रम का आयोजन

विश्व स्तनपान सप्ताह के अवसर पर जिले के विभिन्न आंगनबाड़ी सेविकाओं द्वारा विभिन्न कार्यक्रम आयोजित की जा रही है। उक्त कार्यक्रम के माध्यम से आम लोगों के बीच स्तनपान कराने को लेकर जागरूक किया जा रहा है। साथ ही स्तनपान से होने वाले फायदे के बारे में जानकारी दी जा रही है। इस संबंध में जिला वीबीडी नियंत्रण पदाधिकारी डॉ. आरके यादव ने बताया कि आम लोगाें में व्यापक जागरूकता लाने के लिए विभाग लगातार प्रयास कर रही है। ताकि ज्यादा से ज्यादा महिलाएं बच्चें के जन्म लेने 48 घंटा तक अपना की दुध पिलाएं।

क्योकि मां का दूध बच्चों के विकास में मिल का पत्थर साबित होता है। उन्होंने कहा कि जिले के सभी सरकारी अस्पतालों के ममता को दिशा-निर्देश दिया गया कि अस्पतालों में बच्चे के जन्म लेने से लेकर 48 घंटा तक उसकी निगरानी करेगी। साथ ही समय-समय में बच्चों को उसकी मां का दूध नहीं पिलाएगी।

मां का दूध नहीं पिलाने पर बच्चा होता है मंदबुद्धि

परिहार | विश्व स्तनपान सप्ताह के अवसर पर मंगलवार को प्रखंड क्षेत्र के विशनपुर गांव स्थित आंगनबाड़ी केंद्र संख्या-23 पर मेंहदी कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसकी अध्यक्षता पीरामल फाउंडेशन के बीटीओ सुधीर कुमार ने की। इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि मां का दूध बच्चों के लिए अमृत के समान होता है।‌ बच्चों के जन्म के समय एक घंटा के अन्दर मां का पहला गाढ़ा पीला दूध ही बच्चों का सर्वोत्तम आहार है। मां का पहला गाढ़ा पीला दूध बच्चों में रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। कहा कि छह माह तक केवल मां का दूध और उसके उपरांत मां के दूध के साथ ऊपरी आहार का सेवन कराने से बच्चों में कुपोषण की संभावना काफी कम हो जाती है। उन्होंने बताया कि बच्चों के प्रथम एक हजार दिन की शुरुआत गर्भावस्था से ही शुरू हो जाता है।

इसलिए गर्भवस्था के दौरान महिलाओं को उचित पौष्टिक आहार लेने के लिए प्रेरित करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि बच्चों की देखभाल सही से नहीं होने के कारण बच्चे कुपोषित हो जाते हैं। इससे उनका शारीरिक और मानसिक विकास अवरूद्ध हो जाता है। वह मंद बुद्धि के हो जाते हैं। इसलिए सभी महिलाएं अपने बच्चों को मां का दूध सेवन कराने के साथ ही दूसरे महिलाओं को भी सेवन कराने के लिए प्रेरित करने की जरूरत है। केन्द्र के सेविका नूतन भारती ने भी बच्चों को मां का दूध सेवन कराने के लिए लोगों को प्रेरित किया।

डुमरी पीएचसी में साप्ताहिक बैठक का हुआ आयोजन

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र डुमरी कटसरी में मंगलवार को चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. संजय कुमार की उपस्थिति में साप्ताहिक बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में श्री कुमार ने कोविड-19 महामारी को देखते हुए एवं बाढ़ की स्थिति पर विशेष चर्चा की। साथ ही उपस्थित कर्मी को ससमय अपने कर्तव्यस्थल पर उपस्थित होने के लिए कहा गया। वहीं कोविड-19 के लिए चल रहे सैंपलिंग के निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सभी कर्मी को तत्पर रहने के लिए निर्देश दिया। वही सेंटर पर चल रहे कार्यों का जायजा लिया। मौके पर स्वास्थ्य प्रबंधक विवेक कुमार सिंह, लेखापाल संजय कुमार, कामेश्वर प्रसाद सिंह आदि मौजूद थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- मेष राशि वालों से अनुरोध है कि आज बाहरी गतिविधियों को स्थगित करके घर पर ही अपनी वित्तीय योजनाओं संबंधी कार्यों पर ध्यान केंद्रित रखें। आपके कार्य संपन्न होंगे। घर में भी एक खुशनुमा माहौल बना ...

और पढ़ें