पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बांध पर आसरा:बाजपट्‌टी से एक किमी दूर मधुवन गोट गांव में बाढ़ का पानी, नाव से हाेता है आवागमन

सीतामढ़ीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बाजपट्टी के वनभिरवा टोला से नाव के सहारे लौटते ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
बाजपट्टी के वनभिरवा टोला से नाव के सहारे लौटते ग्रामीण।
  • लखनदेई में आई बाढ़ से 25 हजार की आबादी प्रभावित, घराें में पानी की वजह से रहना मुश्किल

प्रखंड मुख्यालय बाजपट्‌टी से एक किलोमीटर की दूर मधुवन बसहा पंचायत लखनदेई में आई बाढ़ से चारों तरफ से घिरी है। इससे 25 हजार की आबादी पूरी तरह प्रभावित है। पंचायत के 14 में से 6 वार्डों के घरों में पानी का प्रवेश हो चुका है। वहीं तीन वार्डों में सड़कों पर पानी का जमावड़ा है। गांव चारों तरफ से पानी से घिरा है। गांव से निकलने के लिए नाव अथवा तीन चार से पांच फीट पानी में उतरना लोगों के लिए मजबूरी बना हुआ है। गांव की सभी सड़कों पर पानी का बहाव जारी है।

पंचायत में तीन नाव दी गई है। इसमें से एक मुख्य गोट से मधुवन बाजार को जाती है, वहीं एक वार्ड 13 बनभिड़वा से हरपुरबा मुख्य सड़क व एक नाव वार्ड चार, एक व सात से लोगों को अधवारा बांध तक छोड़ती है। गांव की मुख्य सड़क पर भी पानी का तेज बहाव है।

सूखा खाना से चला रहे काम : पंचायत का बनभिड़वा टोला सीतामढ़ी-पुपरी मुख्य सड़क से पांच सौ मीटर की दूरी पर बसा हुआ है। यहां की जनसंख्या भी 400 के करीब है। कुछ पक्के मकान भी हैं तो अधिकतर कमजोर वर्ग के लोग हैं, जो दैनिक मजदूरी पर ही आश्रित हैं।

पानी के बढ़ने से लोगों के घरों का अनाज भी बर्बाद हो गया। सूखा खाना व सामाजिक सहयोग से लोग किसी तरह गुजर-बसर कर रहे हैं। मो. साजन, मो. फिरोज, अजीमा खातून, सुमैरा खातून आदि ने बताया कि घरों में पानी है। बच्चों के साथ दूसरे के दरवाजे पर हैं। बताया कि सामाजिक कार्यकर्ता सबाउद्दीन मुन्ना ने राशन के साथ ही राशि भी नाव से पहुंंच कर दी है। इससे कुछ राहत मिली है।

अधवारा बांध पर परिजनों व मवेशियों के साथ रहे लोग
पंचायत के वार्ड एक और सात हरिजन कॉलोनी में भी घरों में पानी है। बाढ़ के चढ़ते ही अधिकतर लोग समीप के अधवारा बांध पर परिजनों व मवेशियों के साथ रह रहे हैं। गांव में कुछ लोगों का घर ऊंचा है। वे वहीं जान जोखिम में रखकर रह रहे हैं। यहां भी नाव ही सहारा है। नाविक मो शौकत ने बताया कि वर्ष 2017 से ही सरकार से मजदूरी नहीं मिली है।

वार्ड चार का पूरी तरह से मुख्यालय से संपर्क भंग
पंचायत के वार्ड चार का पूरी तरह से संपर्क भंग है। यहां के निवासी चार से पांच फीट पानी में उतर कर ही घरों से बाहर निकलते हैं। एक चापाकल पानी से ऊपर है, जिससे लोगों को पानी मिल रहा है। इस वार्ड के सभी लोग दो तीन ऊंचे स्थानों पर ही किसी प्रकार खुद को सुरक्षित रखे हुए हैं। वार्ड के जमेली बैठा, प्रेम बैठा, सीताशरण बैठा ने बताया कि बाढ़ में हमारी यही स्थिति होती है।

अब तक कोई सरकारी मदद नहीं पहुंची
स्थानीय निवासी असरफ हुसैन उर्फ जिलानी ने बताया कि अब तक कोई सरकारी मदद नहीं पहुंची है। अधिकारी हाथ खड़ा कर चुके हैं। लोगों को भूखे रहना मजबूरी है। किसी तरह मांग करके एवं सामाजिक मदद से सुरक्षित हैं। पंचायत मुखिया मो. सबीर ने बताया कि किसी प्रकार नाव ठीक करवा कर संचालन किया जा रहा है। नाविक को तीन वर्षों से पैसा नहीं मिला है।

खबरें और भी हैं...