4 महीने बाद हुई कार्रवाई:परिहार में चार अवैध नर्सिंग होम सील की

सीतामढ़ी14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
परिहार में क्लिनिक सील करते अधिकारी। - Dainik Bhaskar
परिहार में क्लिनिक सील करते अधिकारी।
  • थानाध्यक्ष व सीओ के साथ प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने की कार्रवाई

प्रखंड में संचालित अवैध नर्सिंग होम के खिलाफ आखिरकार प्रशासन का डंडा चल ही गया। गुरुवार की शाम अवैध रूप से संचालित प्रखंड के चार नर्सिंग होम को सील कर दिया गया। जिन नर्सिंग होम को सील किया गया, उनमें जीवन क्लिनिक परिहार, आदर्श क्लिनिक भिसवा, आशीर्वाद हॉस्पिटल भिसवा तथा पटना मेटिसिटी हेल्थ केयर भिसवा के नाम शामिल हैं। बता दें कि 23 अगस्त 2021 को 5 अवैध नर्सिंग होम को सील किया गया था। इस दिन कुल 9 नर्सिंग होम को सील किया जाना था। सील करने वाली टीम ने समय अभाव के कारण शेष चार अवैध क्लीनिक को अगले दिन सील करने की बात कही थी। लेकिन, यह कार्रवाई अगले दिन नहीं होकर 4 महीने बाद हुई। बताया गया कि झोलाछाप चिकित्सकों द्वारा नर्सिंग होम के संचालन की शिकायत पर अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी की टीम ने 8 मार्च 2021 को प्रखंड के कई नर्सिंग होम की जांच की थी। जांच प्रतिवेदन में स्पष्ट किया गया था कि झोलाछाप डॉक्टरों द्वारा अस्पताल का संचालन व इलाज किया जाता है।

पूछताछ में यह भी सामने आया था कि गलत तरीके से निजी स्वार्थ के कारण मापदंड को पूरा नहीं करने वाले अस्पतालों का भी निबंधन किया गया था। अधिकारी ने अपने जांच प्रतिवेदन में इसे जांच का विषय बताया था। अनुशंसा किया गया था कि भविष्य में ऐसे अस्पतालों का निबंधन नहीं किया जाना चाहिए। इसके बाद सीएस ने 15 मार्च 2021 को इन नर्सिंग होम को तत्काल सील करने का आदेश प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को दिया था। सीएस ने 3 दिन के अंदर किए गए कार्रवाई से अवगत कराने का निर्देश भी दिया था। लेकिन, स्थानीय स्तर पर इसे ठंडे बस्ते में डाल दिया गया था। इस कार्रवाई में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. आरपी शाही, थानाध्यक्ष पंकज कुमार, सीओ प्रभात कुमार, स्वास्थ्य प्रबंधक संजय कुमार, पीएचसी प्रधान लिपिक, चिकित्सक, पदाधिकारी व पुलिस बल शामिल थे।

खबरें और भी हैं...