पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सत्संग:कोरोना के इस दौर में मानव धर्म सर्वोत्तम

सीतामढ़ी25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

विकास भारती रून्नीसैदपुर की ओर से वर्चुअल विचार गोष्ठी का आयोजन किया गया। इस दौरान हिन्दू धर्म में जैन धर्म और बौद्ध धर्म का अवदान विषय पर विचार विमर्श किया गया। गोष्ठी की अध्यक्षता प्राचीन इतिहास के जानकार डाॅ. हरिश्चन्द्र सत्यार्थी ने की। संचालन जैन साहित्य के ज्ञाता रामभद्र ने किया। डाॅ. सत्यार्थी ने आर्यों के इतिहास पर प्रकाश डाला। वहीं, तब के समाज के आर्थिक-सामाजिक स्थिति को स्पष्ट करते हुए जैन धर्म, बौद्ध धर्म और हिन्दू धर्म की संगति विसंगति की व्याख्या की। वीरेंद्र प्रसाद सिंह ने कोरोना महामारी के इस दौर में मानव धर्म को सर्वोत्तम बताया। दीपेंद्र कुमार ने भारत के संस्कृति निर्माण में इन तीनों धर्मों के योगदान को महत्वपूर्ण बताया। विमल कुमार परिमल ने भारतीय मानसिकता और प्रवृत्ति की चर्चा करते हुए कहा कि भारतीय संस्कृति ने विश्व को बहुत कुछ दिया है। राजेन्द्र सिन्हा ने जैन धर्म और हिन्दू धर्म में कई समता को बताया। राम रंजन त्रिवेदी ने सभी धर्मों को मानव कल्याण का माध्यम बताया।

खबरें और भी हैं...