पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बदहाली:मुरादपुर गांव में काेराेना पाॅजिटिव एक व्यक्ति की हाे चुकी है माैत, स्वास्थ्य उपकेंद्र बना तबेला

सीतामढ़ी25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सामान रख उपस्वास्थ्य केन्द्र काे अतिक्रमित कर रह रहे लाेग। - Dainik Bhaskar
सामान रख उपस्वास्थ्य केन्द्र काे अतिक्रमित कर रह रहे लाेग।
  • अस्पताल में न ताे काेई डाॅक्टर आते हैं और न ही काेई स्वास्थ्यकर्मी, परिसर में मवेशी बांधा जा रहा है

जिला मुख्यालय से महज 3 किलाेमीटर दूर डुमरा प्रखंड का मुरादपुर पंचायत। जिसकी आबादी करीब 9 हजार से अधिक है। अकेले मुरादपुर गांव की अाबादी करीब 2 हजार से अधिक है। काेराेना संक्रमण की दूसरी लहर में यहां काेराेना संक्रमित एक व्यक्ति की माैत हाे चुकी है। इसके बावजूद यहां का स्वास्थ्य उपकेंद्र तबेला में बना हुअा है। साल 1986 में यहां के स्वास्थ्य उपकेंद्र की स्थापना की गई थी। तब यह अस्पताल किराए के मकान में संचालित हाे रहा था।

डाॅक्टर के साथ स्वास्थ्य कर्मी की प्रतिनियुक्ति भी की गयी थी। इस स्वास्थ्य उपकेंद्र से मुरादपुर, गाछी टाेला, बैना, कुशवाहा टाेला आदि गांव की आबादी काे चिकित्सा सेवा उपलब्ध हाे रहा था। साल 2007 में इस अस्पताल काे गांव के ही सरकारी भवन दुग्ध संग्रह केंद्र में स्थापित कर दिया गया। पिछले 2 वर्षाें से यह अस्पताल बंद है और यह तबेला में तब्दील हाे चुका है। यहां न ताे काेई डाॅक्टर आते है और न ही काेई स्वास्थ्यकर्मी। अस्पताल परिसर में मवेशी बांधा जा रहा है।

पिछले 2 वर्षाें से यह अस्पताल बंद है, यहां न ताे काेई डाॅक्टर आते है और न ही काेई स्वास्थ्यकर्मी

पचास प्रतिशत लाेगाें ने लिया है टीका
काेराेना से माैत की घटना के बाद लाेगाें में थाेड़ी जागरूकता आयी ताे गांव के करीब 50 प्रतिशत लाेग टीका जरूर लिये। लेकिन, अधिकांश लाेगाें ने जांच भी नहीं कराया। यहां न ताे जागरूकता अभियान चलाया गया है और न ही शिविर आयाेजित कर लाेगों काे टीका दिया गया। गांव के अशाेक शर्मा, पूर्व उपप्रमुख संजय कुमार, राम प्रकाश राम, राम विनय शर्मा, रंजीत कुमार, विजय शर्मा, उदय शंकर शर्मा आदि बताते है कि पिछले दाे वर्षां से यहां के अस्पताल बंद है। इसे चालू कराने के लिए कइ बार अधिकारियाें से शिकायत भी किया गया लेकिन, इस दिशा में अब तक काेइ कार्रवाइ नहीं की जा सकी है। काेराेना से एक व्यक्ति की माैत हाेने के बाद लाेगाें में डर हुआ ताे बुद्धिजीवी वर्ग के लाेगाें ने टीका लिया। लेकिन अधिकांश लाेगाें ने न ताे जांच कराया और न ही टीका ले रहे है।

^मुरादपुर में बने अस्पताल काे संचालित करने के दिशा में कार्रवाइ की जा रही है। शिकायत मिली है कि इस अस्पताल पर कुछ लाेगाें ने अतिक्रमण कर लिया है। इस अाशय की जानकारी वरीय पदाधिकारी काे दी गयी है। अस्पताल काे अतिक्रमण मुक्त कराने की दिशा में आगे की कार्रवाइ की जा रही है।
डॉ. धनंजय कुमार, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, डुमरा।

काेराेना संक्रमण से एक ही माैत हाेने के बाद भी लाेग बने है लापरवाह, मास्क का भी नहीं करते हैं प्रयोग
हाल ही में कुछ दिन पहले यहां काेराेना संक्रमित एक व्यक्ति की माैत हाे गयी। इसके बाद कुछ लाेगाें ने जांच कराया। घर घर लाेग सर्दी, खांसी से पीड़ित थे। दवा खाइ और अब ये लाेग ठीक भी हुए। स्थिति यह थी कि पिछले 15 दिन पहले तक लाेग एक दूसरे के घर जाने से भी परहेज करने लगे। लेकिन, सर्दी खांसी से ठीक हाेने के बाद यहां काे लाेग अब लापरवाह बने हुए है। गांव में कुछ ही लाेग मास्क का उपयाेग करते दिखते है।

खबरें और भी हैं...