सीमा सील:बढ़ते कोरोना को देखते हुए भारत-नेपाल सीमा सील

सीतामढ़ी6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • इमरजेंसी वाहन को छोड़ पैदल यात्रियों पर भी रोक

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए एक बार फिर से भारत-नेपाल सीमा को सील कर दिया गया है। इसके साथ ही बॉर्डर पर सख्ती बढ़ा दी गई है। इमरजेंसी वाहन को छोड़ अन्य वाहनों व पैदल यात्रियों के आवागमन पर भी रोक लगा दी गई है। इससे सीमावर्ती क्षेत्र के लोगों की मुश्किलें भी बढ़ जाएगी। क्योंकि बॉर्डर के कई इलाकों खासकर नेपाल क्षेत्र के बहुत से लोग भारतीय बाजार पर पूरी तरह निर्भर रहे हैं। वैसे कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए इसे आवश्यक बताया जा रहा है।

बताया जाता है कि मेजरगंज प्रखंड में कोरोना मरीजों की संख्या में दिन प्रतिदिन इजाफा हो रहा है। प्रखंड क्षेत्र में गुरुवार को 3 मरीज पॉजिटिव पाए गए हैं। कुल पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़ कर 21 हो गई है। जिसे लेकर प्रशासन सख्त है। 4 बजे शाम को मुख्यालय बाजार के सभी दुकान को बंद करा दिया गया। वहीं, सीमा पर दोनों देश के सशस्त्र पुलिस बल सीमा पर तैनात दिखे। इमरजेंसी वाहन को छोड़ अन्य वाहनों व पैदल यात्रियों के आवागमन पर रोक लगा दी गई है।

नेपाल में गंभीर होती जा रही है कोरोना की समस्या
सुरसंड | नेपाल सरकार ने 29 अप्रैल से भारत से जुड़ी सीमा को अनिश्चित काल तक सील करने की घोषणा की है। जानकारी के अनुसार, नेपाल में कोरोना की संक्रमितों की संख्या 18 हजार से अधिक हो गई है। वहीं, नेपाल में कोरोना से 130 लोगों की मौत हो चुकी है। नेपाल के परदेश दो में सबसे अधिक कोरोना मरीज वीरगंज में मिले है। प्रदेश दो के पर्सा जिला में 86 संक्रमित मिले हैं। वीरगंज हाॅट स्पाॅट बनता जा रहा है।

खबरें और भी हैं...