बड़ी लापरवाही:बथनाहा प्रखंड के 124 शिक्षकों की सेवा पुस्तिका की जांच में अनियमितता उजागर

सीतामढ़ी8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
एमपी हाई स्कूल में सर्विस बुक की जांच करते कर्मी। - Dainik Bhaskar
एमपी हाई स्कूल में सर्विस बुक की जांच करते कर्मी।
  • बगैर दक्षता उत्तीर्णता के ही दे दिया गया वेतनवृद्धि का लाभ

शिक्षकांे की सेवा पुस्तिका की जांच में तीसरे दिन भी अनियमितताएं मिलने का दाैर लगातार जारी रहा। किसी शिक्षक के सेवा पुस्तिका में हस्ताक्षर नहीं है, तो किसी शिक्षक को बगैर दक्षता उत्तीर्णता के ही वेतन वृद्धि का लाभ दिया गया है। जांच में मिली अनियमितता को लेकर डीपीओ स्थापना महेश प्रसाद सिंह ने बथनाहा बीईओ को तलब करते हुए जबाव मांगा है। डीपीओ ने कहा है कि तीन दिनों से शिक्षकों के सेवा पुस्तिका की जांच हो रही है। पहले दिन बाजपट्‌टी प्रखंड के 114 शिक्षकों के सेवा पुस्तिका की जांच की गई। इसमें किसी शिक्षक के सेवा पुस्तिका में हेडमास्टर का हस्ताक्षर नहीं पाया गया तो किसी के सेवा पुस्तिका में बगैर दक्षता उत्तीर्णता के ही वेतन वृद्धि का लाभ दिया गया है। जबकि दुसरे दिन गुरुवार को सोनबरसा के 200 शिक्षकों, तीसरे दिन बथनाहा प्रखंड के 124 शिक्षकाे की सेवापुस्तिका की जांच की गई है। इसमें भी 90 प्रतिशत शिक्षकांे को सेवा पुस्तिका में त्रुटियां पाई गई है। इसे लेकर सोनबरसा व बथनाहा के बीईओ को भी तलब किया जाएगा। अधिकांश सेवा पुस्तिका में शिक्षक व प्रधानाध्यापक का हस्ताक्षर नहीं| नोडल पदाधिकारी मुकेश कुमार, संभाग प्रभारी कुमोद पासवान ने बताया कि सेवा पुस्तिका की जांच में कई अनियमतिताएं मिल रही है। अधिकांश सेवा पुस्तिका में ह्वाइटनर का उपयोग व कटिंग कर सुधार ताे किया गया है लेकिन वहाँ हस्ताक्षर नही किया गया है। छठें व सातवें वेतन निर्धारण स्पष्ट रूप से नहीं किया गया है। वार्षिक वेतन वृद्धि में त्रुटि के साथ अधिकांश सेवा पुस्तिका में शिक्षक व प्रधानाध्यापक का हस्ताक्षर तक नहीं है। इसी प्रकार दक्षता परीक्षा अनुतीर्ण होने के बाद भी शिक्षकों को वेतन वृद्धि का लाभ दिया गया है। इस तरह की अनिमितता उजागर होने के बाद डीपीओ द्वारा का कार्रवाई भी की गई है।

बीईओ के विरुद्ध विभागीय कार्रवाई की चेतावनी दी गई
सेवा पुस्तिका मंे बड़े पैमाने पर मिल रही अनियमितता को लेकर डीपीओ स्थापना महेश प्रसाद सिंह ने बीईओ के विरुद्ध विभागीय कार्रवाई की चेतावनी दी है। उन्हाेने कहा कि शिक्षकांे के 15 प्रतिशत वेतन वृद्धि को लेकर सेवा पुस्तिका की जांच की जा रही है। इसमें घोर अनियमितता मिल रही है। जबकि इसके पूर्व सभी बीईओ को निर्देश दिया गया था प्रखंड के शिक्षकों को अद्यतन सेवा पुस्तिका उपलब्ध कराएंगे। इसके बावजूद विसंगतियों से भरे सेवा पुस्तिका उपलब्ध कराया गया है। उन्होंने जबाव मांगते हुए कहा है कि तीन दिनों के भीतर बीईओ से स्पष्टीकरण की मांग की है।

शिविर में सेवा पुस्तिका की जांच को रोस्टर जारी: शिविर में शिक्षकांे की सेवा पुस्तिका की जांच के लिए रोस्टर जारी किया गया है। साथ ही जांच टीम में 20 शिक्षकांे की प्रतिनियुक्ति की गई है। इसमें नोडल पदाधिकारी के रूप में मुकेश कुमार, संभाग प्रभारी कुमाेद पासवान के अलावा पंकज किशोर पवन, शिव मंगल कुमार, दिलीप कुमार, संजीव कुमार, विजय शंकर ठाकुर, मुकुल कुमार, शत्रुघ्न प्रसाद, अमृतेश सौरभ, सबील अहमद आदि शामिल है। रोस्टर के अनुसार, 17 को डुमरा, 18 को रुन्नीसैदपुर, 19 को चोरौत व परसौनी, 20 को बैरगनिया व मेजरगंज, 21 को बेलसंड व सुप्पी, 22 को बोखड़ा व पुपरी तथा 24 जनवरी को सुरसंड व रीगा प्रखंड के शिक्षकों की सेवा पुस्तिका की जांच होगी।

खबरें और भी हैं...