पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

परामर्श:होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों को फोन से दी जा रही है चिकित्सीय परामर्श

सीतामढ़ीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रखंड स्तर पर बनाए गए कोरोना नियंत्रण कक्ष से मरीजों का हो रहा फॉलोअप

जिले के होम आइसोलेशन में रहने वाले कोरोना मरीजों को कंट्रोल रूम के माध्यम से टेलीकंसंटेंसी के जरिये उचित सलाह दिया जा रहा है। इसको लेकर जिला प्रशासन के आदेश पर विभिन्न प्रखंडों में कोरोना नियंत्रण कक्ष बनाया गया है। जहां से स्वास्थ्य विभाग और पिरामल स्वास्थ्य के प्रखंड स्तरीय पदाधिकारी (बीटीओ) मरीजों को फोन पर फॉलोअप कर रहे हैं। जिला प्रशासन द्वारा इसकी मॉनिटरिंग की जा रही है। इस संबंध में पिरामल के जिला मैंनेजर रवि रंजन कुमार ने बताया कि 24 घंटे संचालित होने वाले कंट्रोल रूम के माध्यम से प्रतिदिन होम आइसोलेट में रह रहे संक्रमित मरीजों का हालचाल पूछा जा रहा है। ताकि मरीज को असुविधा महसूस होने पर उन्हें उचित चिकित्सीय परामर्श उपलब्ध कराया जा सकें। कंट्रोल रूम के माध्यम से प्रतिदिन फोन से संपर्क कर दवा खाने से लेकर स्वास्थ्य संबंधी कई अन्य जानकारियां प्राप्त कर जिला को उपलब्ध कराया जा रहा है।
मेडिकल किट के साथ होम आइसोलेशन में रहने का तरीका बता रहें | श्री कुमार ने बताया कि होम आइसोलेट के मरीजों को मेडिकल किट में एंटीबॉयोटिक, विटामिन सी सहित छह तरह की दवाई और मास्क दिया जा रहा है। किट में दवाओं के साथ एक पर्ची होती है, जिसमें दवाओं के लेने की मात्रा और समय लिखा होता है। साथ ही होम आइसोलेशन में रहने के तरीके बताए जा रहे है। अलग कमरे में सुरक्षित रहने, अनावश्यक रूप से बाहर नहीं निकलने, अपने प्रयोग की गई सामग्री का उपयोग दूसरों द्वारा नहीं करने देने, मास्क का प्रयोग करने, नियमित अंतराल पर साबुन से बार-बार हाथों को धोते रहने एवं दो गज की सामाजिक दूरी बनाये रखने की सलाह दी जा रही है।

खबरें और भी हैं...