पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कार्यक्रम:परिवार नियोजन कराने में पुरुष की अपेक्षा महिलाओं की भागीदारी अधिक है : डॉ. सुनील

सीतामढ़ी19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
परिवार नियाेजन मेला में शामिल चिकित्सक व Deशा कार्यकर्ता। - Dainik Bhaskar
परिवार नियाेजन मेला में शामिल चिकित्सक व Deशा कार्यकर्ता।
  • परिवार नियोजन पखवाड़ा के तहत लोगों को जागरूक करने के लिए आशा को दिया गया है निर्देश

परिवार नियोजन पखवाड़ा के सफल संचालन को लेकर डुमरा पीएचसी परिसर में आशा कार्यकर्ताओं की बैठक आयोजित की गई। इसकी अध्यक्षता प्रभारी सिविल सर्जन डॉ. सुनील कुमार सिन्हा ने की। इस दौरान परिवार नियोजन पखवाड़ा के तहत महिलाओं की अपेक्षा पुरुष की भागीदारी को अधिक करने पर बल दिया गया। साथ ही परिवार नियोजन कराने को लेकर प्रोत्साहन राशि मिलने को लेकर चर्चा किया गया। प्रभारी सीएस डॉ. सुनील ने बताया कि आगामी 31 जुलाई तक पखवाड़ा के तहत परिवार नियोजन किया जाएगा। साथ ही लोगों को जागरूक करने के प्रेरित करने का निर्देश दिया। वहीं परिवार नियोजन कराने को लेकर पुरुष की भागीदारी अधिक करने पर बल दिया गया।
लाभार्थियों को ओरआरएम व जिंक की गोली वितरण करने का दिया निर्देश
बोखड़ा। स्थानीय पीएचसी सभागार में आशा व आशा फैसिलिटेट की बैठक आयोजित की गई। इसकी अध्यक्षता प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. एजाज अहमद ने की। जिसमें परिवार नियोजन पखवाड़ा के तहत सघन दस्त नियंत्रण पखवाड़ा के सफल आयोजन पर विस्तृत चर्चा किया गया। वही सभी लाभार्थियों को सूची के अनुसार शत प्रतिशत सेवा देने का निर्णय लिया गया। साथ ही घर-घर जाकर लक्षित लाभार्थियों को ओआरएस तथा जिंक की गोली का वितरण करने का निर्देश दिया। वहीं परिवार नियोजन के लिए महिलाओं के साथ-साथ पुरुष लाभार्थी को भी प्रोत्साहित करने को कहा गया। इसके अलावा संस्थान में गिरते प्रसव पर चिंता जाहिर करते हुए संस्थागत प्रसव के लिए प्रोत्साहित करने का निर्देश दिया। मौके पर बीएचएम अनिल कुमार, बीसीएम लवली कुमारी, बीटीओ पीरामल स्वास्थ्य कुमार ताराचन्द्र, बीएम केयर रोहित कुमार आदि उपस्थित थे।

परिवार नियोजन पखवाड़ा के तहत 15 महिलाओं का किया बंध्याकरण
स्थानीय पीएचसी परिसर में परिवार कल्याण पखवाड़ा के अंतर्गत परिवार नियोजन के लिए प्रचार वाहन को रवाना किया गया। यह पखवाड़ा कार्यक्रम 11 जुलाई से आगामी 31 जुलाई तक संचालित रहेगा। परिवार नियोजन कार्यक्रम के अंतर्गत विभिन्न प्रकार के साधन के बारे में भी चर्चा की गई। जिसमें छाया, काॅपर टी, माला एन, पुरुष नसबंदी, पीपीआईयुसीडी के बारे बताया गया। जिसके अंतर्गत सप्ताह में दो दिन बुधवार और शनिवार को बंध्याकरण का शिविर लगाने का निर्णय लिया गया। वहीं बुधवार को आयोजित बंध्याकरण शिविर में 15 महिलाओं का बंध्याकरण किया गया।

परिवार नियोजन के स्थाई व अस्थाई साधनों के बारे में दी गई जानकारी
प्रखंड के अंतर्गत अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बघारी में परिवार कल्याण पखवाड़ा मेला का आयोजन किया गया। इसकी अध्यक्षता प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. आर के सिंह ने की। जिसमें प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक विनय भूषण के द्वारा परिवार नियोजन के स्थाई एवं अस्थाई साधनों पर विस्तृत रूप से जानकारी दी गई। साथ ही ओआरएस का घोल तैयार करने एवं डायरिया से बचाव के लिए जानकारी दी गई। प्रखंड प्रबंधक केयर इंडिया के प्रभात कुमार ने बताया कि परिवार नियोजन के साधन केवल परिवार को सीमित करने के लिए नहीं बल्कि महिलाओं व बच्चों के स्वास्थ्य एवं प्रजनन स्वास्थ्य को बेहतर करने का तरीका है।

वहीं सरकार के द्वारा दिए जाने वाले प्रोत्साहन राशि के बारे में जानकारी दी गई। इस दौरान परिवार नियोजन पखवाड़ा में बढ़-चढ़कर भाग लेने के लिए प्रेरित किया गया। मेला में उपस्थित दंपतियों ने अंतरा इंजेक्शन डोज भी लिया। जिसमें गुड़िया कुमारी, काला देवी एवं किरण देवी ने अंतरा इंजेक्शन का प्रथम डोज लिया। मौके पर पिरामल स्वास्थ्य के मनोज कुमार, आशा कार्यकर्ता उषा कुमारी, सुनीता कुमारी, सरोज देवी, आशा फैसिलिटेटर राखी कुमारी, प्रखंड सामुदायिक उत्प्रेरक मो. कमरे आलम, लिपिक कृपा शंकर झा आदि उपस्थित थे।

डुमरी कटसरी पीएचसी में दस महिलाओं का किया गया बंध्याकरण
प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र डुमरी कटसरी में बुधवार को परिवार नियोजन पखवाड़ा के अंतर्गत बंध्याकरण शिविर का आयोजन किया गया। इस दौरान स्वास्थ्य प्रबंधक विवेक कुमार सिंह ने बताया कि बंध्याकरण से पूर्व बंध्याकरण के लिए आयी हुई महिलाओं का ब्लड प्रेशर, शुगर, एचआईवी एवं अन्य कई तरह की बीमारियों की नि:शुल्क जांच की गयी। इसके बाद दस महिलाओं का बंध्याकरण किया गया। वही स्वास्थ प्रबंधक ने बताया कि स्वास्थ्य केंद्र पर 60 लोगों को कोविड-19 से बचाव का टीका लगाया गया।

खबरें और भी हैं...